"मेरी वास्तविकता"

 "मेरी वास्तविकता"





हाँ बस ये ही गलती की, 

           इमान मेरे हर काम रहा l

हाँ बस ये ही गलती की, 

            हर वफ़ा मेरे ही नाम रही l

हाँ बस ये ही गलती की, 

             उम्मीद नहीं नाउम्मीद किया l

हाँ बस ये ही गलती की, 

              मेरे आँखों में स्वप्न रहा l

हाँ बस ये ही गलती की, 

              स्वप्न में भी स्वाभिमान रहा l

हाँ बस ये ही गलती की,

               हर कर्म मेरे है सात्विकता l 

हाँ बस ये ही गलती की, 

                 इमान में मैं कुर्बान रही l

हाँ बस ये ही गलती की, 

                  स्नेह मेरे हर स्नेह रहा l

हाँ बस ये ही गलती की, 

                 हर भाव कलुषता दूर रही l

हाँ बस ये ही गलती की, 

                 हर सोंच मेरे फ़रियाद रही l

हाँ बस ये ही गलती की, 

                   सत्कर्म मेरे हर मार्ग रही l

माना मेरी है गलती यही,

                 चेहरे में मुखौटा लगा नहीं l

कैसे मैं दूर करूँ गलती, 

                    मेरे कर्मों में मेरी भक्ति l

स्वीकार करो फ़िर या न करो, 

                 अब दूर नहीं होगी गलती l





रश्मि पाण्डेय

बिंदकी फ़तेहपुर

Popular posts
चेहरे पर मुहासे के दाग होने की वजह से 8 जगहों से टूटा रिश्ता हीनभावना से ग्रसित,युवती ने फांसी लगाकर की आत्महत्या
चित्र
लगभग 5 करोड़ रुपए की अष्टधातु की मूर्ति के साथ एक आरोपी गिरफ्तार
चित्र
एंटी करप्शन टीम ने रिश्वत लेते बाबू को रंगेहाथ पकड़ा, एरियर निकालने के लिए मांगे थे 14 हज़ार रुपये
चित्र
उत्तर प्रदेश में मुफ्त राशन वितरण व्यवस्था में बदलाव, अब राशनकार्ड धारकों को चावल ज्यादा और गेहूं कम मिलेगा
चित्र
अतिक्रमणकारियों पर होगी सख्त कार्रवाई--- एसडीएम बिंदकी
चित्र