जाति का जहर बोने वाले देखे रामायण

 जाति का जहर बोने वाले देखे रामायण



बोधीखेड़ा में मनाई गई गुह्य राज निषाद की जयंती


गिरिराज शुक्ला

बिंदकी फतेहपुर।मलवा विकास खंड के बोधीखेड़ा में श्रंगवेरपुर के महराजा निषादो के अराध्य श्री राम के सखा गुह्य राज निषाद की जयंती धूमधाम से मनाई गई।समाज के प्रबुद्ध वर्ग ने समाज की एकजुटता का संदेश दिया।अध्यक्षता करते हुए जातियो का जहर बोने वालो पर कटाक्ष करते हुए श्यामलाल निषाद ने कहा भरत लक्ष्मण निषादराज गुह्य के पैर छूते है क्योंकि निषादराज प्रभु श्री राम के सखा है।आज समाज में जाति का जहर बोया हुआ है।जाति के जहर का ताना बाना बुनकर रोज अपवाद पैदा किए जाते है।ऐसे लोगो को सबसे पहले रामायण देखना चाहिए।


संचालन करते हुए तेजनरायण निषाद ने कहा व्यक्ति जाति से नही कर्म से ही पूज्य पहले भी था और आज भी है।निषाद समाज की भगवान प्रभु श्री राम के प्रति श्रद्धा अनुकरणीय है।निषादराज ने श्रीराम की सेवा कर समाज को एक आध्यात्मिक और सामाजिक संदेश दिया है। यहां कार्यक्रम में गीतों के माध्यम से निषादराज की स्तुति की गई।तैलीय चित्र पर माल्यार्पण किया गया।मनीराम निषाद,विजय पाल निषाद,श्रीराम निषाद,सीताराम,सुशील कुमार निषाद,सुनील निषाद रहे।