जिलाधिकारी ने उच्च प्राथमिक व प्राथमिक विद्यालयों का किया औचक निरीक्षण

 जिलाधिकारी ने उच्च प्राथमिक व प्राथमिक विद्यालयों का किया औचक निरीक्षण



फतेहपुर।जिलाधिकारी श्रीमती अपूर्वा दुबे ने उच्च प्राथमिक विद्यालय महात्मा गांधी नगर क्षेत्र, प्राथमिक विद्यालय पीरनपुर, राजकीय कन्या प्राइमरी पाठशाला नगर क्षेत्र का औचक निरीक्षण किया। उन्होंने ने  बच्चों के पठन-पाठन, शिक्षा की गुणवत्ता ,मध्यान्ह भोजन की गुणवत्ता , उपस्थित पंजिका, रसोइया घर आदि की जांच किया। हर बच्चे में प्रकृति के चेतना होती है जररूत है तो उसको निखारने की जो शिक्षा के माध्यम बच्चों माध्यम से उज्ज्वल भविष्य का निर्माण किया जा सकता हैं, इसलिए बच्चों के शिक्षा में किसी भी प्रकार की  लापरवाही क्षम्य नही होगी। जिलाधिकारी ने स्वयं बच्चों  से प्रश्न पूछा और फिर ब्लैक बोर्ड पर लिखाकर उत्तर को समझाया। प्रधानाध्यापिकाओ से शिक्षा की गुणवत्ता सुधारने, बच्चों की उपस्थिति का प्रतिशत बढ़ाने , बच्चों का नामांकन कराने, बच्चों को मेन्यू के अनुसार भोजन देने, भोजन सामग्री के लिए प्राप्ति रजिस्टर बनाने के निर्देश दिये।

उच्च प्राथमिक विद्यालय महात्मा गांधी नगर क्षेत्र में   बी0एड0 के प्राशिक्षुओ द्वारा कक्ष में बच्चों को पढ़ाते हुए पाया गया , शिक्षामित्र द्वारा अभिलेखीय कार्य करते हुए पाए जाने पर कहा कि स्कूल समय के पहले कर ले अथवा बाद में एवं बच्चों को शेड्यूल बनाकर विषयवार  पढ़ाने के निर्देश दिये।

प्राथमिक विद्यालय पीरनपुर नगर क्षेत्र में बी0एड0 के प्राशिक्षुओ के अनुपस्थिति पाये जाने पर नियमनुसार कार्यवाही करने के निर्देश दिये वहीं मेन्यू के अनुसार आज तहरी व उबला हुआ दूध दिया जाना था, परन्तु बच्चों को तहरी दी गयी और उबला हुआ दूध नहीं दिया  गया  जिस पर कड़ी नाराजगी व्यक्त की और सख्त हिदायत दी कि बच्चों को मेन्यू के अनुसार मिड डे मील गुणवत्तापूर्ण दिया जाए । 

  इस अवसर पर संबंधित उपस्थित रहे।

टिप्पणियाँ
Popular posts
हुसैनगंज थाना पुलिस और क्राइम ब्रांच टीम ने मिलकर चोरी की 10 मोटरसाइकिल के साथ दो लोगों को किया गिरफ्तार
चित्र
मानसिक विक्षिप्त लड़की के साथ अस्पताल के कर्मचारी ने किया दुष्कर्म का प्रयास
चित्र
श्रद्धालुओं ने केन नदी की उतारी मंगल आरती
चित्र
जिलाधिकारी दीपा रंजन ने विकास खण्ड बिसण्डा के सभागार में ग्राम प्रधानों के साथ की समीक्षा बैठक
चित्र
जिलाधिकारी ने 20 से 25 फीसदी से कम दर पर कृषि यंत्र उपलब्ध कराने के लिए निर्देश
चित्र