स्वयं सहायता समूह की महिलाओं के उत्थान के लिए जिलाधिकारी का अभिनव पहल

 स्वयं सहायता समूह की महिलाओं के उत्थान के लिए जिलाधिकारी का अभिनव पहल



फतेहपुर।उ0प्र0 राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन प्रबन्धन इकाई फतेहपुर द्वारा कार्यालय परिसर वन विभाग, फतेहपुर में स्वयं सहायता समूह द्वारा किये जा रहे कारपेट घास उत्पादन कार्य का जिलाधिकारी श्रीमती अपूर्वा दुबे ने वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ पूजा अर्चना कर *कारपेट घास(Hybrid Selection-1 Grass)* स्वयं लगाकर शुभारम्भ किया । उन्होंने स्वयं सहायता समूह की महिलाओं से वार्ता करते हुये कारपेट घास के उत्पादन की बारीकियों की जानकारी ली, जिसमें महिलाओं द्वारा बताया गया कि उद्यान विभाग द्वारा प्राप्त सेलेक्शन -1 प्रजाति की कारपेट घास निःशुल्क उपलब्ध करायी गयी है , जिसको वन विभाग कार्यालय परिसर के 1200 वर्ग मीटर क्षेत्रफल में रोपित किया जाएगा, जो 45 दिनों में तैयार हो जायेगी, तैयार की गयी कारपेट घास को जिला प्रशासन के सहयोग से अमृत सरोवर मनरेगा खेल पार्को एव अन्य शासकीय स्थलों हेतु बिक्री की जाएगी । 45 दिनों में तैयार कारपेट घास पर प्रति वर्ग मीटर पर लगभग 80 से 90 रू० एवं प्रति फसल पर अनुमानित 100000.00 रू० प्राप्त होंगे । इस कार्य में प्रत्यक्ष रूप से 07 स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को रोजगार प्राप्त होगा , जिनको प्रतिमाह लगभग 7 से 8 हजार की बचत होगी । 

इस कार्यक्रम की पहल जिलाधिकारी की संवेदनशीलता , व्यक्तिगत रूचि लेने एवं महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के उद्देश्य से स्वयं उनके कार्यक्रम में शिरकत करके उनको प्रोत्साहित करते हुए आगे बढ़ने के लिये प्रेरित किया । वनविभाग एवं उद्यान विभाग के सहयोग से अभिसरण के माध्यम से स्वयं सहायता समूह की गरीब महिलाओं को सतत आजीविका संवर्धन से जोड़ा गया, जिससे महिलाओं को रोजगार प्राप्त मिलेगा ।

इस अवसर पर परियोजना निदेशक महेन्द्र प्रसाद चौबे ग्राम्य विकास विभाग, लालजी यादव उपायुक्त स्वतः रोजगार, प्रभागीय निदेशक वनविभाग रामानुज त्रिपाठी , जिला उद्यान अधिकारी श्याम सिंह , क्षेत्रीय अधिकारी वनविभाग आर० एल० सैनी , खण्ड विकास अधिकारी तेलियानी विनय कुमार मिश्रा, डी०एम०एम० मोहित शशांक , शिवशान्त मिश्रा, ब्लाक मिशन प्रबन्धक जया मिश्रा, आलोक सिंह सहित समूह की महिलाएं उपस्थित रहीं ।