वृद्धाश्रम की माताओं के बीच केक काटकर व फल वितरण कर मनाया मदर्स डे"

 वृद्धाश्रम की माताओं के बीच केक काटकर व फल वितरण कर मनाया मदर्स डे"



रिपोर्ट - श्रीकांत श्रीवास्तव 


बांदा -  भारत देश मे आज का दिन मदर्स डे ये नाम से जाना जाता है । इस दिन माँ के चरणों को स्पर्श कर बेटे अपनी कामयाबी के लिए आशीर्वाद लेते है । वही बेटे और बहुओं द्वारा घर से निकाल दिए जाने के बाद बूढ़ी माँ वृद्धाश्रम का सहारा लेती है ।

  बुंदेली अभिनेत्री, समाजसेवी व पत्रकार शालिनी पटेल व मानवाधिकार के बुंदेलखंड अध्यछ इकबाल खान उर्फ बबलू ने नरैनी रोड स्थित अनाथ आश्रम में पहुँचकर माताओं का दुख दर्द जानते हुए उनके बीच बैठकर केक काटा व फल वितरित किया ।

बतादे की आज 8 मई है, आज का दिन मदर्स डे के नाम।से जाना जाता है । समाजसेविका शालिनी पटेल और मानवाधिकार के इकबाल उर्फ बबलू आज मेडिकल कालेज के पास बने अनाथ आश्रम पहुँचे वा वहाँ मौजूद माताओं व बुजुर्गों के बीच बैठे, उनके हालचाल वा समस्याओं की जानकारी ली, साथ ही केक काटकर फल वितरण किया । सभी को अपने बीच देखकर वृद्धाश्रम की माताओं का चेहरा खुशी से खिल उठा । समाजसेविका शालिनी पटेल ने कहा कि आज हम वृद्धाश्रम आये है, माताओं के बीच बैठकर उनसे बातचीत की है, उनको फल वितरण करते हुए उनके लिए आगे भी मदद का भरोसा दिलाया है । शालिनी पटेल ने कहा कि फ़ोटो खिंचाने वाले अधिकारी और सत्ताधारी लोग आज यहां दिखाई नही दिए है ये शर्म की बात है, देश की हर बुजुर्ग महिला हमारी मा है और हमे उनका सम्मान करना चाहिए । वही  वृद्धाश्रम के व्यवस्थापक श्याम किशोर त्रिवेदी ने कहा कि आज हमारे बीच समाजसेवी शालिनी पटेल और मानवाधिकार के इकबाल उर्फ बबलू आये है जिन्होंने यहां की माताओं के बीच समय बिताया है, जिससे माताओं के चेहरे खिले हैं ।