भगवान की बाल लीलाओं की कथा सुन श्रोता भाव बिभोर

 भगवान की बाल लीलाओं की कथा सुन श्रोता भाव बिभोर



बिंदकी फतेहपुर।मलवा विकास खंड के पहुर गांव में आयोजित सात दिवसीय श्रीमद्भागवत कथा के पांचवे दिन कथावाचक आचार्य रामजी पांडेय ने भगवान श्री कृष्ण के बाललीला व पूतना वध का वर्णन किया। कथावाचक ने कहा कि भगवान श्रीकृष्ण बाल्यकाल में अनेक लीलाएं की है। भगवान कृष्ण की एक-एक लीला मनुष्यों के लिए परम मंगलमयी व अमृत स्वरूप है।भगवान ने बाल लीलाओ से सभी का कल्याण किया जिनका आध्यात्मिक महत्व है।उन्होंने पूतना वध,माखन चोरी सहित अनेक प्रसंग सुनाए।कथा सुन श्रोता भावविभोर हो भजनों में झूमने लगे।आरती के पश्चात प्रसाद वितरित किया गया।आयोजक नीरज दुबे,धीरज दुबे,आलोक गौड़,अभय मिश्रा,शिव सिंह,निर्भय सिंह,अविनाश बाजपेई,अनुपम मिश्रा,भोला द्विवेदी,पिंटू सिंह,ओमनारायण पांडेय आदि रहे।