पांच बच्चों संग धरने पर बैठी थी महिला सिटी मजिस्ट्रट केशव नाथ ने महिला को मदद का दिया आश्वासन

 पांच बच्चों संग धरने पर बैठी थी महिला  सिटी मजिस्ट्रट केशव नाथ ने महिला को मदद का दिया आश्वासन



रिपोर्ट - श्रीकांत श्रीवास्तव


बांदा - आज पीड़ित महिला से मिलने पहुंचे सिटी मजिस्ट्रट केशव नाथ ने  महिला को आश्वासन  दिया है की जल्द उसको सारी मदद दी जाएगी उसके बच्चो को भी आर्थिक मदद दी जाएगी साथ ही विधवा पेन्शन और भी जो योजना का लाभ मिल सकता है इसको उपलब्ध कराया जायेगा।महिला पिछले एक साल से अधिकारियो के चककर काट रही थी पर उसकी कोई सुनवाई नहीं हुई जिससे थक हार कर अनशन में बैठना पड़ा था।आप को बता दे की एक साल पहले नोनिया मोहाल निवासी सपना के पति की मौत हो गई थी। इसके चलते उसे परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। शासन प्रशासन की ओर से आर्थिक मदद न मिलने पर महिला ने अशोक लाट पर धरना प्रदर्शन किया।सपना ने बताया कि पिछले साल मार्च में उसके पति विजयराज की दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गई थी। पति की मौत से उसके सामने आर्थिक संकट खड़ा हो गया है। खाने-पीने तक के लाले पड़ गए हैं। वहीं, वह बच्चों की पढ़ा भी नहीं पा रही है। सपना ने बताया कि पति की मौत के बाद प्रशासन ने आर्थिक मदद का वादा किया था। सदर विधायक घर भी गए थे। आश्वस्त किया था, लेकिन कोई मदद नहीं मिली।

वही सिटी मजिस्ट्रेट केशव नाथ ने बताया की अशोक लाट में धरने पर बैठी महिला सपना सोनकर पत्नी विजय पाल सोनकर जिनके पति की मृत्यु एक वर्ष पूर्व हो गई थी। जो आर्थिक सहायता के लिए धरने पर बैठी थी। आज हमने उनको जिला अधिकारी से मिलाया है। डीएम बांदा समाज कल्याण अधिकारी प्रोफेशन अधिकारी, को कहा इनको अति शीघ्र सहायता दिया जाए। और विधवा पेंशन की बनाने के निर्देश दिए है। इसने सभी पत्रावली लेकर लाभ दिलाया जा रहा है।