राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री के आगमन की तैयारियां: बन रहा है जर्मन हैंगर पंडाल, सुरक्षा व्यवस्था के लिए पहुंचीं टीमें

 राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री के आगमन की तैयारियां: बन रहा है जर्मन हैंगर पंडाल, सुरक्षा व्यवस्था के लिए पहुंचीं टीमें  



न्यूज़।कानपुर देहात के अपने पैतृक गांव परौंख में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद तीन जून को पहुंच रहे हैं। उनके साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी आ रहे हैं। ऐसे में अतिथियों के आगमन को लेकर प्रशासन तैयारियों में जुटा है।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद तीन जून को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ पैतृक गांव परौंख आएंगे। माननीयों, परिजनों, गांव के लोगों व मित्रों से मुलाकात के साथ ही वह जनसभा को भी संबोधित करेंगे। इसके लिए जर्मन हैंगर तकनीक से पंडाल बनाया जा रहा है। एल्युमिनियम के इस पंडाल पर आंधी व बारिश का भी असर नहीं होता है। 

परौंख में राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राज्यपाल आनंदीबेन पटेल व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आगमन को लेकर प्रशासन तैयारियों में जुटा है। बदलते मौसम व सुरक्षा की दृष्टि से यहां एल्युमिनियम के मजबूत पिलर के आधार पर खड़ा होने वाला जर्मन हैंगर पंडाल लगाया जा रहा है। आंधी, तूफान व बारिश में भी इस पंडाल पर कोई असर नहीं होगा और बिना व्यवधान के कार्यक्रम चलता रहेगा। यहां पर राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री लोगों को संबोधित करने के साथ उनसे मुलाकात करेंगे। 

इसलिए खास है जर्मन हैंगर पंडाल जर्मन हैंगर तकनीक से बनने वाले पंडाल की डिजाइन अंग्रेजों के जमाने में बनने वाली इमारतों से मिलती-जुलती है। अंग्रेजी के हाफ-ए के आकार में बनने वाले इस टेंट में वेंटिलेशन का खास ख्याल रखा जाता है। जमीन पर पिलर खड़ा करने के लिए एल्युमिनियम का आधार बनता है। इसे नट-बोल्ट के सहारे कसा जाता है। इस पर एल्युमिनियम की ही बीम लगाई जाती है।  पुलिस मुख्यालय भेजा 767 लाख रुपये का इस्टीमेट

राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री के आगमन को लेकर आठ हेलीपैड, पंडाल (जर्मन हैंगर सहित), मंच, बैरिकेडिंग, पार्किंग, विभिन्न स्थानों पर बैरियर समेत अन्य कार्य के लिए करीब 767.50 लाख रुपये का प्रारंभिक इस्टीमेट तैयार किया गया है। शासन के संयुक्त सचिव महेंद्र प्रसाद भारती ने इसे अपर पुलिस महानिदेशक मुख्यालय लखनऊ को भेजा है।  हेलीपैड निर्माण के लिए भूमि चिह्नित

पीडब्लूडी के जेई भारत विजय बहादुर ने शनिवार को राजस्व निरीक्षक बसंत लाल, लेखपाल सर्वेश कुमार पाल, नितिन तिवारी, देवप्रताप सहित राजस्व टीम के साथ आठ हैलीपैड के लिए भूमि चिह्नित की। इसके बाद हैलीपैड बनाने का काम शुरू किया गया। जेई ने बताया कि आठ हेलीपैड जल्द तैयार कर लिए जाएंगे। वहीं जनसभा के लिए पंडाल लगने का काम तेजी से चल रहा है।