राष्ट्रीय किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम के तहत जिला महिला अस्पताल में किशोरियों को बांटे सेनेटरी पैड

 राष्ट्रीय किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम के तहत जिला महिला अस्पताल में किशोरियों को बांटे सेनेटरी पैड



रिपोर्ट - श्रीकांत श्रीवास्तव 


बांदा। राष्ट्रीय किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम (आरकेएसके) के तहत मासिक धर्म स्वच्छता दिवस पर जिला महिला अस्पताल में जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। महिलाओं और किशोरियों को मासिक धर्म के बारे में जानकारी दी गई। क्विज व पोस्टर प्रतियोगिताएं हुईं। किशोरियों को निशुल्क सेनेटरी पैड भी दिए गए।

जिला महिला अस्पताल में साथिया केंद्र काउंसलर वंदना तिवारी ने बताया कि माहवारी की शुरुआत किशोरावस्था में होती है। सामान्यतः 45 से 50 वर्ष की आयु तक माहवारी होती है। माहवारी के दौरान सैनिटरी नैपकिन तथा साफ कपड़े का उपयोग करना अति आवश्यक होता है। उन्होंने कहा कि भोजन में हरी सब्जियां, दूध, दही, फल और अंकुरित दालें व आयरन युक्त पदार्थों को शामिल करें। साथ ही नियमित व्यायाम करें। माहवारी के दौरान स्वच्छता बहुत महत्वपूर्ण है। पुरुष एवं महिला दोनों में यौन अंगों को शरीर के अन्य हिस्सों की तुलना में अधिक सफाई की आवश्यकता होती है।

जिला पुरूष अस्पताल में साथिया केंद्र के परामर्शदाता चंद्रेश गुप्ता ने बताया कि हर साल 28 मई को माहवारी स्वच्छता दिवस मनाया जाता है। आमतौर पर ज्यादातर महिलाओं के पीरियड साइकिल 28 दिन के होते हैं यही वजह है कि 28 तारीख को इस दिन को  मनाने के लिए चुना गया। इसका मकसद किशोरियों को माहवारी के दौरान साफ सफाई के महत्व को समझाना है। थोड़ी सी लापरवाही उन्हें हेपेटाइटिस बी, सर्वाइकल कैंसर, योनि संक्रमण जैसी गंभीर बीमारियों की तरफ ले जाता है। लोगों को यह बताने की जरूरत है कि मासिक धर्म कोई अपराध नहीं बल्कि सामान्य शारीरिक प्रक्रिया है, जिसे घर वा समाज में खुलकर बात करने की जरूरत है। जिससे महिलाओं और किशोरियों को गंभीर व जानलेवा बीमारियों से बचाया जा सके।

Popular posts
सदर कोतवाली के अंतर्गत राधा नगर चौकी क्षेत्र में "सीमा क्लीनिक" नाम का अदौली रोड में डॉक्टर ने गर्भपात करने की खोल रखी है मौत की दुकान
चित्र
पत्रकार की बाइक का बदौसा थानाध्यक्ष ने किया चालान पत्रकार ने पुलिस अधीक्षक को दिया लिखित शिकायत पत्र
चित्र
नगर पालिका बांदा की घोर लापरवाही आई सामने,
चित्र
लेखपाल की लापरवाही के चलते दबंग पूर्व ग्राम प्रधान ने अपने कार्यकाल में तालाब पर अवैध रूप से कब्जा कर बनवाया अपना मकान,प्रशासन दबंग प्रधान के सामने है मौन
चित्र
डायल 112 पीआरबी कर्मियों के द्वारा जंगल में हाथ पैर बांध कर फेंके गए युवक को बंधन से कराया मुक्त
चित्र