पखवाड़े का लाभ उठाएं आयुष्मान कार्ड बनवाएं- मुख्य चिकित्सा अधिकारी

 पखवाड़े का लाभ उठाएं आयुष्मान कार्ड बनवाएं- मुख्य चिकित्सा अधिकारी



अन्त्योदय लाभार्थियों के बन रहे हैं आयुष्मान कार्ड जनपद में 20 जुलाई तक चलेगा पखवाड़ा


फतेहपुर। आयुष्मान कार्ड बनाने के लिए 5 जुलाई से चल रहा अभियान 20 जुलाई तक चलेगा। पखवाड़ा के तहत शत-प्रतिशत अन्त्योदय लाभार्थियों के आयुष्मान कार्ड बनाने के निर्देश दिये गये है। यह कहना है मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ० सुनील भारतीय का।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि पत्र के अनुपालन में सभी अन्त्योदय कार्ड धारकों के आयुष्मान कार्ड बनाने का हरसंभव प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि अन्त्योदय आयुष्मान पखवाड़ा के तहत राशन दुकानों सहित विभिन्न स्थानों पर शिविर लगा कर आयुष्मान कार्ड बनाए जा रहे हैं। इसके लिए माइक्रोप्लान तैयार किया गया है। कोटेदार को प्रेरित कर उनकी सहभागिता सुनिश्चित की गयी है। शिविर की निर्धारित तिथि से पूर्व संबंधित आशा कार्यकर्ता द्वारा गांव, वार्ड के चिन्हित लाभार्थी परिवारों को शिविर स्थल के संबंध में जानकारी दे दी गई है। इसके साथ ही साथ यह भी बताया गया है कि आयुष्मान कार्ड बनाने के लिए आधार कार्ड एवं राशन कार्ड शिविर में ले जाना अनिवार्य है।

जिला आपूर्ति अधिकारी द्वारा कोटेदारों को यह निर्देश दिये गये हैं कि वह आयुष्मान कार्ड बनवाने में लाभार्थियों की सहायता करें। मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने अन्त्योदय कार्ड धारकों से अपील की है कि जिन लोगों के आयुष्मान कार्ड नहीं बने है,वह शिविर में जाकर अपने कार्ड जरूर बनवा लें। तथा यह भी बताया कि अभियान की सफलता के लिए सभी अधीक्षक/ प्रभारी चिकित्सा अधिकारी को निर्देशित किया गया है कि योजना को सफल बनाने के लिए अंत्योदय लाभार्थियों के अधिक से अधिक आयुष्मान कार्ड बनाए जाएं। 

आयुष्मान भारत के नोडल अधिकारी डॉ यूपी सिंह कुशवाहा ने बताया कि आशा एवं आरोग्य मित्रों को प्रोत्साहन राशि, लक्षित परिवारों को प्रेरित करते हुए शिविर में लाने तथा आयुष्मान कार्ड बनवाने पर आशा कार्यकर्ताओं को प्रोत्साहन राशि दी जाएगी। लक्षित परिवारों में कम से कम एक आयुष्मान कार्ड बनवाने पर पांच रुपये तथा एक से अधिक आयुष्मान कार्ड बनवाने पर प्रति परिवार दस रुपये प्रोत्साहन राशि दी जाएगी। गौरतलब है कि आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना व मुख्यमंत्री जन आरोग्य अभियान से आच्छादित परिवारों को योजना से आबद्ध निजी व सरकारी अस्पताल में प्रतिवर्ष प्रति परिवार पांच लाख रुपये तक के उपचार की निरूशुल्क सुविधा मिलती है।

जनपद में अन्त्योदय योजना के  36788   परिवार हैं, जिसमें  9076  परिवारों के आयुष्मान कार्ड बनाए जा चुके हैं। 

क्या कहा लाभार्थियों नेरू-

1- राजकुमारी, निवासी बहुआ ने बताया कि बार-बार इलाज कराने से घर की आर्थिक स्थिति बिगड़ गई थी। जब मुझे अंत्योदय राशन कार्ड धारकों का आयुष्मान कार्ड बनने की सूचना प्राप्त हुई तो मुझे खुशी का ठिकाना न रहा। 

2-सुनीता ,निवासी भिटौरा ने बताया कि आयुष्मान कार्ड बन जाने से मैं काफी प्रसन्न हूं, और सरकार का धन्यवाद करती हूं। आयुष्मान कार्ड बन जाने से प्राइवेट अस्पताल में भी चिकित्सकीय सुविधाएं मुझे निरूशुल्क प्राप्त होंगी।