यमुना का जलस्तर ठहरा, लेकिन कम नहीं हुईं दुश्वारियां, घाटमपुर के 13 गांव बाढ़ की चपेट में

 यमुना का जलस्तर ठहरा, लेकिन कम नहीं हुईं दुश्वारियां, घाटमपुर के 13 गांव बाढ़ की चपेट में             



न्यूज़।उत्तर प्रदेश के घाटमपुर में उफनाई यमुना का जलस्तर शनिवार को ठहर गया। लेकिन अभी भी खतरे के निशान से लगभग साढ़े चार मीटर ऊपर बह रही है। वहीं, बाढ़ की चपेट में आए गड़ाथा समेत 13 गांवों में दुश्वारियां अभी कम नहीं हुई हैं। गांवों में चारों ओर पानी भरा है।

घरों की छतों में डेरा डाले ग्रामीण शनिवार को चौथे दिन भी सुरक्षित स्थानों की ओर जाते दिखे। गड़ाथा गांव में अभी भी तमाम घर पानी से घिरे हैं। लोग नाव के सहारे ही आ जा रहे हैं। विधायक सरोज कुरील और कुछ अन्य लोगों ने बाढ़ पीड़ितों को राहत सामग्री वितरित की। 

शुक्रवार को दिन में यमुना का जलस्तर 107.410 मीटर पर था। रात से जलस्तर बढ़ना थमा है। जलस्तर ठहरने के बावजूद बाढ़ ग्रस्त गांवों में दुश्वारियां कम नहीं हो रही हैं। छतों पर ग्रामीण शरण लिए हुए हैं। गांवों से लोग अभी भी सुरक्षित स्थानों की ओर जा रहे हैंयमुना तटवर्ती गड़ाथा, लहुरीमऊ, रामपुर, मोहंटा, हरदौली, महुआपुरवा, मऊनखत, अमिरतेपुर, कटरी, काटर, बीरबल अकबरपुर, कोटरा समेत 13 गांव बाढ़ की चपेट में हैं। गड़ाथा गांव के हालात ज्यादा खराब हैं। यहां चार दिनों से निरंतर बाढ़ के हालात जस के तस बने हैं। छतों पर रुके लोग नाव के सहारे ही आते जाते हैं।

टिप्पणियाँ
Popular posts
तेज रफ्तार रोडवेज बस अनियंत्रित होकर खाई मे जा पलटी
चित्र
हुसैनगंज थाना पुलिस और क्राइम ब्रांच टीम ने मिलकर चोरी की 10 मोटरसाइकिल के साथ दो लोगों को किया गिरफ्तार
चित्र
मानसिक विक्षिप्त लड़की के साथ अस्पताल के कर्मचारी ने किया दुष्कर्म का प्रयास
चित्र
जिलाधिकारी ने 20 से 25 फीसदी से कम दर पर कृषि यंत्र उपलब्ध कराने के लिए निर्देश
चित्र
प्रदेश कमाने गए पति की गैरमौजूदगी में महिला के साथ पड़ोसियों ने किया बदसलूकी
चित्र