विकास भवन सभागार में जिला स्तरीय अधिकारियों के साथ कानून व्यवस्था एवं विकास कार्यों की राज्य मंत्री ने किया समीक्षा

 विकास भवन सभागार में जिला स्तरीय अधिकारियों के साथ कानून व्यवस्था एवं विकास कार्यों की राज्य मंत्री ने किया समीक्षा 



फतेहपुर।राज्यमंत्री, कृषि, कृषि शिक्षा एवं अनुसंधान उ0प्र0,  बलदेव सिंह औलख जी की अध्यक्षता में जिला स्तरीय अधिकारियों के साथ कानून व्यवस्था एवं विकास कार्यो की समीक्षा बैठक विकास भवन सभागार में सम्पन्न हुई । उन्होंने कहा कि केन्द्र/प्रदेश सरकार द्वारा संचालित लाभार्थीपरक व जनकल्याणकारी योजनाओं से नियमानुसार कार्यवाही करके पात्रों को लाभान्वित किया जाए, जिन विभागों में योजनाएं चल रही है सम्बन्धित अधिकारी अपने दायित्व का निर्वहन करते हुए धरातल में योजनाओ को उतारकर शासन की मंशानुरूप पात्रों को लाभान्वित करने के लिए अपनी महती भूमिका निभाएं। योजनाओ का जमीनी स्तर पर व्यापक प्रचार प्रसार किया जाए जिससे कि कोई पात्र व्यक्ति योजनाओ से वंचित न रहे । बैठक में कानून व्यवस्था से सम्बन्धित जीरो टॉलरेंस, कानून का शासन, मिशन शक्ति, सड़क सुरक्षा, फुट पेट्रोलिंग, थाना दिवस, संम्पूर्ण तहसील समाधान दिवस, आईजीआरएस-प्राप्त शिकायतों के निस्तारण की स्थिति, स्कूल चलो अभियान के अंतर्गत नवप्रवेशित छात्र/छात्राओ, नगर पालिका/नगर पंचायतों में साफ सफाई, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण में दवाओं की उपलब्धता, आयुष्मान भारत मे प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना(गोल्डेन कार्ड) में उपचारित लाभार्थियों की स्थिति, सार्वजनिक वितरण प्रणाली में राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना के तहत निःशुल्क खाद्यान का वितरण, प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजनांतर्गत खाद्यान वितरण की स्थिति, प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण/शहरी, मुख्यमंत्री आवास योजना, जल जीवन मिशन, गेंहू खरीद, मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना, मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना, सामुदायिक शौचालय की प्रगति की स्थिति, पंचायत भवनों की स्थिति, पुष्टाहार वितरण,  बाढ़ की तैयारी, श्रमिको के ई श्रम पोर्टल में पंजीयन, विद्युत आपूर्ति, अमृत सरोवर, वृक्षारोपण, अस्थायी गौशाला, मुख्यमंत्री सहभागिता योजना आदि की बिन्दुवार समीक्षा की । उन्होंने कहा कि निर्बाध विद्युत आपूर्ति हेतु अधिशाषी अभियंता अपने अधीनस्थों पर परस्पर निगरानी बनाये रखे प्रतिदिन दूरभाष से वार्ता कर विद्युत की बाधाओं से सम्बन्धित समस्याओं को दूर कराए । स्कूल चलो अभियनन्तर्गत नामांकन से छूटे हुए बच्चों का शत प्रतिशत नामांकन कराये । प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत पात्रों को गोल्डेन कार्ड बनाया जाए उर उपचार भी कराया जाए । उन्होंने कहा कि ग्रामीण स्तर पर बनाये गए सामुदायिक शौचालयों को शत प्रतिशत स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को रखा जाए जिससे उनका संचालन सही से हो सके और महिलाये आत्मनिर्भर बन सके । मुख्यमंत्री सहभागिता योजनांतर्गत कुपोषित बच्चों के अभिभावकों को दुधारू गाय दी जाए ताकि बच्चों को कुपोषण मुक्त बनाया जा सके । उन्होंने संभावित बाढ़ क्षेत्रो में बाढ़ चौकियों को क्रियाशील रखा जाए साथ ही बाढ़ से निजात दिलाने के लिए परियोजना का स्टीमेट बनाकर शासन को पत्राचार करने के निर्देश सम्बन्धित को दिए ।

जिलाधिकारी श्रीमती श्रुति ने मंत्री को अश्वासत किया कि आप द्वारा दिये गए निर्देश/मार्गदर्शन को जिला स्तरीय अधिकारी अपने कार्यशैली में लाएंगे। उन्होंने बैठक में उपस्थित मंत्री एवं जनप्रतिनिधियों का आभार व्यक्त किया ।

इस अवसर पर  विधायक खागा श्रीमती कृष्णा पासवान, विधायक जहानाबाद  राजेन्द्र सिंह पटेल, पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार सिंह, मुख्य विकास अधिकारी सत्य प्रकाश, अपर जिलाधिकारी न्यायिक धीरेन्द्र प्रताप, अपर जिलाधिकारी (वित्त/राजस्व) श्री विनय कुमार पाठक, मुख्यचिकित्साधिकारी डॉ0 सुनील भारती, प्रभागीय वनाधिकारी रामानुज त्रिपाठी, पीडी डीआरडीए एमपी चौबे, जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी जोगेन्द्र सिंह यादव सहित सम्बन्धित जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे ।