गांवों में लगा कूड़े का अंबार, बजबजारही नालियां, सफाईकर्मी नदारद

 गांवों में लगा कूड़े का अंबार, बजबजारही नालियां, सफाईकर्मी नदारद



बदबूदार नालियों के चलते सवालों के घेरे में अधिकारी


मोदी की स्वच्छता अभियान को तार- तार करते सफाई कर्मी


चौडगरा(फतेहपुर)। मलवां ब्लाक क्षेत्र के कुछ गांवों में तैनात कुछ सफाईकर्मी गांव में दिखते तक नहीं है। कुछ ने तो गांव में एक से दो हज़ार रुपये पर आदमी भी रख रखा है। गांवों में तैनात सफाईकर्मी गांवों में क्यों नहीं दिखते, ये भी ब्लाक के अधिकारियों पर सवालिया निशान खड़ा करता है। या तो उनकी शासन सत्ता में जबरदस्त पकड़ है या तो ब्लाक के अधिकारियों का संरक्षण प्राप्त है। या यूं कहें कि ब्लाक में एक सफाईकर्मी एडीओ (पंचायत) तक के आदेशों व निर्देशों को ठेंगें पर रखते हैं। अपने नियुक्ति वाले गांव में जाना तो दूर, वहां के ज़िम्मेदारों का फोन तक नहीं उठाते हैं।

गौरतलब हो कि बजबजाती नालियों से उफनाने वाला पानी सड़क व खडंजे का बना दुश्मन गंदे पानी से पैदा होने वाले मच्छरों के प्रकोप से गांव के ग्रामीण जूझ रहे हैं। ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों की सरपरस्ती में सफाईकर्मी मनमानी पर उतारू है। परेशान ग्रामीण ब्लाक अधिकारियों के चक्कर काट कर परेशान हो रहें हैं। कोई सुनने वाला नहीं है विकासखंड के रानीपुर इसकी बानगी है, इससे जुड़े कई गांव के लोगों को इसी रास्ते से गुजरना पड़ता है जिससे उन राहगीरों को बड़ी मशक्कत का सामना करना पड़ता है जो भारी बारिश व उफनाई नालियों के गंदे पानी से होकर गुजरना पड़ता है। लेकिन सफाई कर्मी किसी भी गांव में सफाई करने नहीं पहुंचता नतीजतन जगह-जगह पर नालियां बजबजा रही हैं, नालियों से निकलने वाला बदबूदार पानी सड़कों व खडंजो पर पूरी तरह से भर जाता है जिससे लोगों का निकलना दूभर होता है वही भरे गंदे पानी से मच्छरों की भी संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है जिसके चलते ग्रामीण रात में सो नहीं पा रहे हैं वही गांव के सुधीर पांडे पवन पांडे अनूप पांडे सत्यम शुक्ला शिवसागर सिंह पारस सिंह राजेंद्र निषाद भोला निषाद सुरेश निषाद आदि ग्रामीणों ने बताया कि कई माह से गांव में सफाई कर्मी नहीं आया जिसकी शिकायत कई बार खंड विकास अधिकारी व एडीओ पंचायत से की जा चुकी है हर बार अधिकारी झूठा आश्वासन देकर टरका देते हैं। गांव के ग्रामीणों ने बताया कि बजबजाती नालियो से उठती दुर्गंध के कारण जीना हुआ मुश्किल  गांव में अरसे से डीडीटी आदि कीटनाशक का छिड़काव नहीं किया गया है। जिम्मेदार ग्राम प्रधान व एएनएम की कार्यगुजारी से ग्रामीणों में खासा आक्रोश पनप रहा है।

टिप्पणियाँ
Popular posts
ओम घाट में डूबती महिला को पीएसी जवान ने बचाया
चित्र
मदरसा संचालक ने पुलिस अधीक्षक को सौंपा अवैध कब्जा रोकने का शिकायती पत्र
चित्र
गड्ढे के अंदर संचालित हो रही असलहा फैक्ट्री का पुलिस ने किया भंडाफोड़
चित्र
सेलावन गांव में चार नवनिर्मित शौचालयों का किया गया शुभारंभ
चित्र
नगरी निकाय सामान्य निर्वाचन 2022 सहित तैयार कर आने जाने वाली मतदाता सूची के संबंध में जिला निर्वाचन अधिकारी की अध्यक्षता में बैठक संपन्न
चित्र