प्रधान द्वारा पीड़ित के घर की दीवाल व दरवाजा गिरा कर किया जा रहा जबरन कब्जा

 प्रधान द्वारा पीड़ित के घर की दीवाल व दरवाजा गिरा कर किया जा रहा जबरन कब्जा



महिला द्वारा विरोध करने पर महिला व उसके भांजे पर किया गया जानलेवा हमला


मलवा/फतेहपुर। मलवा थाना क्षेत्र के ग्राम चखेड़ी निवासिनी असगरी बेगम पत्नी स्वर्गीय माशूक अली ने पुलिस अधीक्षक को शिकायती पत्र देते हुए बताया कि पीड़िता का सहन दरवाजा लगा हुआ था। जिस पर कुछ अराजक तत्व धर्मपाल सैनी और सुक्खू प्रधान उसके चचेरे भाई राजकुमार, अनिल कुमार, श्रवण कुमार उर्फ सोनू पुत्र सूरजपाल व शिव शंकर पुत्र जनार्दन चाचा द्वारा 08/09/ 2022 को रात करीब 4:00 बजे असगरी बेगम को घर में अकेला जान सभी लोग मिलकर उसका दरवाजा व दीवार गिराने लगे जिस पर असगरी बेगम ने उन लोगों को रोकने का प्रयास किया। शोर सुनकर उनका भांजा अजमल पुत्र स्वर्गीय मोहम्मद असलम निवासी महोली थाना हुसैनगंज ने आकर रोकने का प्रयास किया जिस पर विपक्षी गणों ने अजमल व असगरी बेगम के साथ गाली गलौज व मारपीट करने लगे अजमल के सिर पर किसी धारदार हथियार से हमला कर दिया। जिस पर अजमल गिर गया और बेहोश हो गया। धारदार हथियार से हमला होने के कारण गंभीर रूप से घायल होने पर असगरी बेगम ने तुरंत 112 नंबर डायल किया परंतु कॉल ना लगने पर तत्काल सौंरा चौकी जाकर घटना की सूचना दी। जिस पर उसकी कोई सुनवाई नहीं दर्ज की गई। चौकी इंचार्ज ने मलवा थाना जाने के लिए कहा प्रार्थिनी थाने गई थाने पर उसकी कोई सुनवाई नहीं की गई और उसे गाली देकर वहां से भगा दिया गया। जिस पर वह घर वापस आ रही थी कि रास्ते में विपक्षी गण को थाने की ओर जाते हुए देखा कुछ ही देर बाद प्रार्थिनी के घर पहुंचने पर पुलिस भी उसके घर आ गई और अजमल को चोटिल अवस्था में थाने उठा ले गई। दोबारा थाने पहुंचने पर थाना प्रभारी शमशेर बहादुर सिंह ने प्रार्थिनी को गाली गलौज करते हुए धमकी दिया कि तुझे और तेरे भांजे को झूठे मुकदमे में फंसा दूंगा। जिससे वह सारी जिंदगी जेल में सढ़ेगा। घटना 08/09/2022 की होने के बावजूद अभी तक चोटिल अजमल को कोई डॉक्टरी मुआयना नहीं कराया गया और ना ही कोई रिपोर्ट लिखी गई और पुलिस द्वारा धमकी दी जा रही है की दीवाल और दरवाजा हटा लो नहीं तो परिणाम अच्छा नहीं होगा तथा विपक्षीगण बहुत ही दबंग हैं। जिनसे प्रार्थिनी व उसके भांजे तथा परिवार के अन्य लोगों को जान माल का खतरा बना हुआ है। इन्हीं सब चीजों को लेकर आज प्रार्थिनी असगरी बेगम ने पुलिस अधीक्षक का द्वार खटखटाया है।

टिप्पणियाँ