हमारी आदतें ही हमारा निर्माण करती हैं- मुख्य विकास अधिकारी
हमारी आदतें ही हमारा निर्माण करती हैं- मुख्य विकास अधिकारी


 राष्ट्रीय एकता दिवस पर आयोजित तीन दिवसीय जन-जागरूकता कार्यक्रम का हुआ समापन

बांदा - भारत रत्न सरदार वल्लभ भाई पटेल के देश के लिए किए गए अमूल्य व अतुलनीय योगदान को नई पीढ़ी तक पहुंचाने के उद्देश्य से सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय, भारत सरकार के क्षेत्रीय कार्यालय बांदा द्वारा जनपद के आर्य कन्या इंटर कॉलेज में तीन दिवसीय विशेष जनसंपर्क कार्यक्रम व चित्र प्रदर्शनी का आज समापन हो गया।
कार्यक्रम में मुख्य अतिथि मुख्य विकास अधिकारी वेद प्रकाश मौर्य ने छात्राओं को संबोधित करते हुए कहा कि बच्चों का संकल्प यह निर्धारित करता है कि वह जीवन में क्या हासिल करेंगे। हमारी आदतें ही हमारा निर्माण करतीं हैं। जीवन कुछ देता नहीं सिर्फ लौटाता है। इसलिए जीवन में मेहनत और अच्छी आदतों के साथ निरंतरता का होना भी अति आवश्यक है। समर्पण मंजिल पाने में हमारी मदद करता है।
 साथ ही कहा कि सरदार वल्लभ भाई पटेल के असीम योगदान के बारे में भावी पीढ़ी और हम सभी को अवश्य जानना चाहिए। 
कार्यक्रम के अंतिम दिन छात्राओं को जागरूक करने के उद्देश्य से विभाग द्वारा एक प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता का आयोजन कर 20 बालिकाओं को पुरस्कृत किया गया। इस अवसर पर विद्यालय की छात्राओं व स्थानीय लोगों ने बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया। साथ ही उपस्थित लोगों को इस अवसर पर राष्ट्रीय एकता दिवस, 9 साल सेवा, सुशासन गरीब कल्याण, राष्ट्रीय सतर्कता सप्ताह व मेरी माटी मेरा देश जैसे देशहित के कार्यक्रमों के बारे में विस्तार से बताया गया।
अपने संबोधन में विद्यालय की प्रधानाचार्या पूनम गुप्ता ने कहा कि सरदार वल्लभ भाई पटेल देश की एकता और अखंडता को बनाए रखने के लिए अपने दिए गए योगदान के लिए विख्यात हैं। देश के प्रथम उप-प्रधानमंत्री तथा प्रथम गृहमंत्री की जयंती के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विश्व की सबसे ऊंची प्रतिमा ‘स्टेच्यू ऑफ यूनिटी’ का अनावरण गुजरात में किया था। 
इस अवसर पर क्षेत्रीय प्रचार अधिकारी गौरव त्रिपाठी ने कहा कि राष्ट्रीय एकता ही वह भावना है जो विभिन्न धर्मों, संप्रदायों, जाति, वेश-भूसा, सभ्यता एवं संस्कृति के लोगों को एक सूत्र में पिरो कर रखती है। अनेक विभिन्नताओं के उपरांत भी सभी परस्पर मेल-जोल से रहते हैं। हमारा देश राष्ट्रीय एकता की एक मिसाल है। 
लखनलाल बुंदेलखंडी लोकनृत्य समिति, महोबा के कलाकारों द्वारा रंगारंग सांस्कृतिक लोकगीतों व नृत्यों के माध्यम से भी लोगों को जागरूक किया गया। प्रमुख कलाकार थे लखनलाल, रामदास, करण सिंह, गोविंद दास, सुरेन्द्र कुमार, तुलसीदास, शंकारलाल, रानी, क्रांति सोनी व रश्मि सोनी।
कार्यक्रम में अंतिम दिवस आयोजित प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता के विजयी छात्राएँ थीं सौम्या चक्रवर्ती, प्रियंका पटेल, प्रांशी गुप्ता, नेहा साहू, निर्मला, तनिष्का, ऋतु, ज्ञानती, दीपांशी साहू, स्नेहा त्रिपाठी, अंजलि धुरीय, प्रांशी, अंशिका विश्वकर्मा, आरती, प्रिय साहू, अनामिका, प्रियंका देवी, प्राची, आयुषी और अंजलि।
प्रमुख रूप से उपस्थित थे विभाग के राजेश कुमार शर्मा, नरेंद्र मिश्रा व अन्य विशिष्टजन।
टिप्पणियाँ
Popular posts
वर्षा/ ओलावृष्टि के कारण भेडो में मची भगदड़ के चलते 167 भेडो की मौत जबकि 16 भेडे घायल
चित्र
पत्नी द्वारा लगाए गए आरोप को पति ने बताया मनगढ़ंत कहानी
चित्र
व्यापारी के साथ हुई मारपीट कांड की डीसीपी ने की जांच पडताल
चित्र
अवैध कब्जेदार ने निर्देश के बाद भी कब्जा न हटाया तो राजस्व विभाग ने चलाया बुलडोजर
चित्र
बेटे ने पहले कराया माता पिता का जीवन बीमा फिर बीमा की रकम के लिए माँ की गला घोंटकर हत्या,पिता के तहरीर पर पुत्र के खिलाफ मुकदमा दर्ज
चित्र