बाईपास के नवीनीकरण में थिकनेस की हुई जांच

 बाईपास के नवीनीकरण में थिकनेस की हुई जांच



थिकनेस सही पाए जाने पर शुरू हुआ काम


भाजपा मंडल अध्यक्ष की शिकायत पर बंद हुआ था काम


बिंदकी फतेहपुर।बाईपास के नवीनीकरण में अनियमता की शिकायत करने पर काम बंद हुआ था। लगभग 24 घंटे से अधिक तक काम बंद रहा। दूसरे दिन नवीनीकरण की जांच पीडब्ल्यूडी प्रांतीय खंड विभाग के अवर अभियंताओं ने की जिसमें थिकनेस लगभग 30 मिली मीटर पाई गई। काम संतोषजनक पाए जाने पर पुनः नवीनीकरण का काम चालू हो गया।

बताते चले कि वर्तमान समय में नगर के निकट लगभग 5 किलोमीटर लंबे बाईपास का नवीनीकरण का काम किया जा रहा है। वर्तमान समय में कुंवरपुर रोड बाईपास चौराहे से लेकर मां ज्वाला देवी मंदिर तिराहे तक नवीनीकरण का काम तेजी से चल रहा है इस मामले में गुरुवार को दिन में करीब 11:00 बजे भाजपा मंडल अध्यक्ष बिंदकी अतुल द्विवेदी अपने पार्टी जनों के साथ मौके पर पहुंचे थे और आरोप लगाया था की नवीनीकरण का काम ठीक से नहीं हो रहा है इस मामले को लेकर नवीनीकरण का काम बंद कर दिया गया था शुक्रवार को लगभग 24 घंटे बाद पीडब्ल्यूडी प्रान्तीय खंड के अवर अभियंता विकास भारती मोहित श्रीवास्तव तथा राहुल सिंह द्वारा सड़क को खोद कर नवीनीकरण के थिकनेस की जांच की गई जांच में 30 मिली मीटर थिकनेस पाई गई जो मानक के रूप ठीक बताई गई इसके बाद से पुनः काम चालू किया गया बताते चलें कि बिंदकी क्षेत्र के विधायक जयकुमार सिंह के प्रयासों के चलते एक और जहां 5 किलोमीटर लंबे बाईपास का नवीनीकरण हो रहा है वहीं दूसरी ओर बीच में पड़े लगभग 500 मी अधूरे बाईपास के निर्माण होने की भी रास्ते लगभग खुल चुके हैं इस रास्ते का समतलीकरण किया जा चुका है रास्ता भी चालू हो गया है जल्द ही इस स्थान पर भी पक्का मार्ग बन जाने की पूरी संभावना है जिसके बाद से बाईपास में वाहन फर्राटा भरने लगेंगे और नगर के अंदर का जाम कम हो जाएगा यातायात सामान्य हो जाएगा।

टिप्पणियाँ
Popular posts
वर्षा/ ओलावृष्टि के कारण भेडो में मची भगदड़ के चलते 167 भेडो की मौत जबकि 16 भेडे घायल
चित्र
यूपीएससी में हुआ किसान के बेटे का चयन,किया गांव का नाम रोशन
चित्र
व्यापारी के साथ हुई मारपीट कांड की डीसीपी ने की जांच पडताल
चित्र
पत्नी द्वारा लगाए गए आरोप को पति ने बताया मनगढ़ंत कहानी
चित्र
पत्नी के नाम खरीदी प्रॉपर्टी पर परिवार का भी हक, मकान-जमीन रजिस्ट्री कराने से पहले जान लें HC का फैसला
चित्र