भ्रष्टाचार को उजागर करने पर "पत्रकार" पर गम्भीर आरोप

 भ्रष्टाचार को उजागर करने पर "पत्रकार" पर गम्भीर आरोप



 कूटरचित, सुनियोजित आरोप पत्र बना थाना स्थानीय पर दी गई तहरीर


बिदकी फतेहपुर। ग्रामीणों की शिकायत पर ग्राम प्रधान एवं उनके कारिन्दों का कच्चा चिट्ठा खोलने पर "पत्रकार" को ग्राम प्रधान व उसके गुर्गों के सुनियोजित आरोपों पर जिहालत झेलनी पड़ी। हालांकि ये पहली बार नही हुआ कि किसी भी  पत्रकार को भ्रष्टाचार उजागर करने की सजा मिली बीते कई अरसे से पत्रकार मुफ्त में सेवा देने वाला डाकिया तो बना ही साथ ही कतिपय मनगढ़ंत आरोपो का सामना भी करना पड़ा।

बता दे बीते दिनों से मलवा विकास खंड अंतर्गत उमरौड़ी (बडौरी) ग्राम सभा में ग्राम प्रधान एवं उसके कारिंदो द्वारा किए जा रहे भ्रष्टाचार को लगातार उजागर किया गया जिसका जिला प्रशासन ने संज्ञान लेकर आरोपियों के खिलाफ जांच शुरू करवा दी एवं दोषी पाए जाने वाले लोगों के खिलाफ निष्पक्ष एवं ठोस कार्यवाही का भरोसा भी दिया गया। जिस खबर को प्राथमिकता के साथ कई दैनिक समाचार पत्रों  में उजागर भी किया गया। खबरों से झल्लाए ग्राम प्रधान  के गुर्गों एवं कारिन्दो ने एक सुनियोजित प्रार्थना पत्र स्थानीय थाना कल्यानपुर में पत्रकार के विरुद्ध दिया जिस पर कई संगीन आरोप पत्रकार पर लगाए गए हैं। वही ग्रामीणों ने ग्राम प्रधान पर स्वयं प्रधानी का कार्यभार ना संभालने, विकासखण्ड से संबंधित समस्त कार्य अपने गुर्गों से करवाने एवं विकास कार्यों में भ्रष्टाचार एवं सुनियोजित ढंग से सरकारी पैसे को निकाल उनका का गबन करने समेत कई आरोपों में खण्ड विकास अधिकारी मलवा को लिखित प्रार्थना पत्र भी दिया है।


*मामले में फजीहत होती देख दिया फर्जी शिकायती प्रार्थना पत्र*


सूत्रों की माने तो पूरे मामले में विकासखंड एवं जनपद स्तर पर हो रही बदनामी एवं फजीहत एवं होने वाली रिकवरी से डरे सहमे झल्लाए ग्राम प्रधान एवं उनके कारिंदों, गुर्गों एवं तथाकथित एक उगाही गीर (जो अपने बाप का नही हुआ) ने एक सुनियोजित ढंग से प्रार्थना पत्र तैय्यार कर गुपचुप तरीके से थाना कल्यानपुर में दिया है। ये भी पता चला कि उगाहीगीर द्वारा हाल ही में एक मेडिकल स्टोर संचालक को निशाना बनाया गया जिसका विरोध क्षेत्र के कई सम्भ्रांत नागरिकों द्वारा किया गया। इसी वजह से चोर -चोर मौसेरे भाई वाली कहावत चरितार्थ हुई।


*होगी निष्पक्ष जांच, किसी के आरोप लगाने मात्र से नही लिखेगा मुकदमा*


इस पूरे बाबत थाना कल्यानपुर प्रभारी निरीक्षक रमाशंकर सरोज से हमारी टीम ने सम्पर्क किया तो उन्होंने बताया "पत्रकारों पर आरोप कोई नई बात नही है। प्रार्थना पत्र दिया गया है जिसकी गहनता से जांच करवाई जाएगी"। अधिक जानकारी करने पर प्रार्थाना पत्र में वादी और आरोपी दोनों का नाम गोपनीय रखा।

टिप्पणियाँ
Popular posts
वर्षा/ ओलावृष्टि के कारण भेडो में मची भगदड़ के चलते 167 भेडो की मौत जबकि 16 भेडे घायल
चित्र
यूपीएससी में हुआ किसान के बेटे का चयन,किया गांव का नाम रोशन
चित्र
व्यापारी के साथ हुई मारपीट कांड की डीसीपी ने की जांच पडताल
चित्र
पत्नी द्वारा लगाए गए आरोप को पति ने बताया मनगढ़ंत कहानी
चित्र
पत्नी के नाम खरीदी प्रॉपर्टी पर परिवार का भी हक, मकान-जमीन रजिस्ट्री कराने से पहले जान लें HC का फैसला
चित्र