गठिया रोग से बढ़ सकती हैं प्रजनन समस्याएं

 गठिया रोग से बढ़ सकती हैं प्रजनन समस्याएं



न्यूज़।एक नए शोध में पाया गया है कि गठिया रोग से समय से पहले डिलीवरी, कम वजन वाले बच्चों का जन्म व निःसंतानता जैसी समस्याओं का जोखिम बढ़ सकता है। यह शोध जर्नल रूमेटोलाजी में हाल ही में प्रकाशित हुआ है। अध्ययन में आटोइम्यून रोगों का प्रजनन स्वास्थ्य पर पड़ने वाले असर की जांच की गई है। आटोइम्यून रोग से ग्रस्त लोगों के शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली गलती से स्वस्थ ऊतकों और अंगों पर आक्रमण करने लगती है। शोधकर्ताओं ने अध्ययन के दौरान कुछ मरीजों के बच्चों की संख्या, पिता बनने में समस्या और गर्भावस्था से जुड़ी जटिलताओं की जांच की। उन्होंने फिनलैंड में 1964 से 1984 के बीच पैदा हुए लोगों के राष्ट्रीय डाटा का परीक्षण किया। उन्होंने प्रजनन वर्ष से पहले या बाद करीब आठ प्रतिशत महिला और पुरुषों में आटोइम्यून रोग की पहचान की। शोध दल ने पाया कि तीन शीर्ष आटोइम्यून रोगों में इसका अधिकतम प्रभाव पाया गया। एडिसन रोग में 23.9 प्रतिशत, जुवेनाइल आइडियोपैथिक गठिया में 9.3 प्रतिशत और विटामिन बी 12 की कमी वाले एनीमिया से ग्रस्त लोगों में 8.6 प्रतिशत निःसंतानता पाई गई। एडिसन रोग एक विकार है जिसमें एड्रीनल ग्रन्थि से पर्याप्त हार्मोन नहीं पैदा होता।

टिप्पणियाँ
Popular posts
बडौरी टोल प्लाजा में अधिवक्ता के साथ हुई लूट के साथ गुंडई करते हुए जान से मारने की धमकी दी
चित्र
रोड को लेकर अब तक जनपद में कई जगहों पर हुआ सांसद का विरोध
चित्र
सरकार बनने पर बुंदेलखंड को अलग राज्य बनाया जाएगा - मायावती
चित्र
भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष 49 लोकसभा प्रत्याशी दीदी साध्वी निरंजन ज्योति के पक्ष में वोट करने की किया अपील
चित्र
पीएम मोदी बोले- कांग्रेस-सपा चारों खाने चित्त हो गई है: कांग्रेस ने इज्जत बचाने के लिए मिशन-50 सीट रखा
चित्र