मृतक के साथियों ने ही मिलकर रची थी हत्या की साजिश

 मृतक के साथियों ने ही मिलकर  रची थी हत्या की साजिश 



थाना कोतवाली देहात पुलिस व एसओजी द्वारा किया गया सफल अनावरण


बाँदा - थाना कोतवाली देहात क्षेत्र अन्तर्गत जौरही में दिनांक 07.03.2024 को बरामद व्यक्ति के शव की घटना का थाना कोतवाली देहात पुलिस व एसओजी द्वारा किया गया सफल अनावरण ।

केसीसी लोन पास कराने पर मिलने वाले कमीशन को लेकर हुआ था विवाद । मृतक के साथियों ने ही मिलकर  रची थी हत्या की साजिश । दिनांक 06.03.2024 की रात्रि व्यक्ति की हत्या कर जारी-जौरही रोड किनारे जंगल में शव को दिया था फेंक ।

पुलिस अधीक्षक बांदा अंकुर अग्रवाल के कुशल निर्देशन में जनपद में अपराध एवं अपराधियों पर नियंत्रण लगाये जाने तथा वांछित अभियुक्तों की गिरफ्तारी हेतु चलाये जा रहे अभियान के क्रम में थाना कोतवाली देहात क्षेत्र में दिनांक 07.03.2024 को बरामद शव की घटना का थाना कोतवाली देहात पुलिस व एसओजी की संयुक्त टीम द्वारा सफल अनावरण करते हुए घटना में शामिल 04 अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया गया । गौरतलब हो कि दिनांक 07.03.2024 को थाना कोतवाली देहात के जौरही में एक व्यक्ति का शव बरामद हुआ था जिसके संबंध में थाना कोतवाली देहात पर अभियोग पंजीकृत कर घटना के अनावरण के प्रयास किए जा रहे थे । सघन जांच एवं सर्विलांस की मदद से घटना का पुलिस द्वारा अनावरण करते हुए घटना में शामिल 04 अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया गया । पूछताछ में अभियुक्तों द्वारा बताया गया कि मृतक मनोज कुमार उर्फ बबली,  आसेन्द्र उर्फ पिन्टू,  राज पटेल व रामेश्वर गर्ग एक साथ मिलकर पंजाब नेशनल बैंक छावनी व कृषि विश्वविद्यालय में केसीसी लोन दिलाने का काम करते थे तथा लोगों से 25% कमीशन लेते थे । प्राप्त कमीशन में आसेन्द्र उर्फ पिन्टू व राजपटेल ज्यादा हिस्सा अपने पास रखते थे । इसी बात को लेकर मनोज उफ बबली नाराज था तथा बराबर हिस्से की मांग करता था जिसे लेकर काफी विवाद हुआ । इस पर पिन्टू व राज पटेल ने मनोज को रास्ते से हटाने की योजना बनाई । चूकि मृतक मनोज व रामेश्वर गर्ग काफी अच्छे मित्र थे इसलिए पिन्टू व राज पटेल ने उसे ज्यादा कमीशन का लालच देकर अपनी योजना में शामिल कर लिया तथा दिनांक 06.03.2024 की रात्रि के मनोज के उनके किराये के कमरे जरैली कोठी में लाने के लिए कहा । योजना के अनुसार समझौता का बहाना कर रामेश्वर, मनोज को लेकर पिन्टू व राज पटेल के कमरे पर पहुंचा जहां पर उन दोनों ने पहले से ही हत्या के लिए 17000 रुपये देकर वीरेन्द्र उर्फ हलाले को बुलाया था । जब मनोज कमरे पर पहुंचा तो सबने मिलकर पूर्वनियोजित तरीके से गमछा से गला कस कर व सिलौटी से सीने में हमला कर उसकी हत्या कर दी तथा शव को बोलेरो के माध्यम से जौरही के पास जंगल में फेंक दिया । पुलिस द्वारा घटना में प्रयुक्त गमछा, सिलौटी तथा बोलेरो को बरामद कर लिया गया है । पुलिस अधीक्षक बांदा द्वारा कार्य की सराहना करते हुई पूरी पुलिस टीम को 25 हजार रुपये की इनाम दी गई ।

टिप्पणियाँ
Popular posts
रोड को लेकर अब तक जनपद में कई जगहों पर हुआ सांसद का विरोध
चित्र
बडौरी टोल प्लाजा में अधिवक्ता के साथ हुई लूट के साथ गुंडई करते हुए जान से मारने की धमकी दी
चित्र
सरकार बनने पर बुंदेलखंड को अलग राज्य बनाया जाएगा - मायावती
चित्र
भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष 49 लोकसभा प्रत्याशी दीदी साध्वी निरंजन ज्योति के पक्ष में वोट करने की किया अपील
चित्र
पीएम मोदी बोले- कांग्रेस-सपा चारों खाने चित्त हो गई है: कांग्रेस ने इज्जत बचाने के लिए मिशन-50 सीट रखा
चित्र