गांव की बेटी DRDO में वैज्ञानिक बन करेगी रिसर्च अमौली/फतेहपुर।देश सेवा का लक्ष्य प्राप्त करने के लिए दिनरात एक करने वाली बेटी ने रक्षा मंत्रालय के रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन(डीआरडीओ) के वैज्ञानिक विश्लेषण समूह(SAG) में रिसर्च एसोसिएट पर स्थान पाकर जनपद का ही नही अपितु प्रदेश का नाम रोशन कर दिया। जनपद के अमौली ब्लॉक अंतर्गत कुलखेड़ा की बेटी शिखा त्रिपाठी पुत्री मनोज त्रिपाठी ने दशवी तक की शिक्षा गफूर एजुकेशन सेंटर अमौली से 89℅ अंको के साथ उत्तीर्ण की और इंटर मीडिएट विकास विद्या मंदिर इंटर कॉलेज जहानाबाद से 93.6%अंक हासिल किया । तथा स्नातक पीपीएन डिग्री कॉलेज कानपुर से मैथेमेटिक्स डिपार्टमेंट से प्रथम रैंक के साथ उत्तीर्ण किया था। इसके बाद बनारस हिंदू विश्वविद्यालय की प्रवेश परीक्षा में आल इंडिया 77 वीं रैंक के साथ पास करके मैथेमेटिक्स एंड कंप्यूटिंग विषय में 86℅ के साथ एमएससी उत्तीर्ण की। तत्पश्चात ऑल इंडिया 110 रैंक के साथ राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा(नेट) और गेट की परीक्षा पास की। इसके बाद आइआइटी मंडी हिमांचल प्रदेश में पीएचडी के लिए चयन हुआ । पर सपना कुछ और बड़ा करने का था जिसके चलते दाखिला नहीं लिया। शिखा अपने घर मे सदैव इसरो व डीआरडीओ में रिसर्च कर देश सेवा करने का अवसर प्राप्त करने की बात करती रहती थी। डीआरडीओ का इंटरब्यू देने के बाद शनिवार को घर पर ज्वाइनिंग लेटर आया। रक्षा मंत्रालय के रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन(डीआरडीओ) के वैज्ञानिक विश्लेषण समूह(SAG) में रिसर्च एसोसिएट के पद पर ज्वाइनिंग लेटर आने के बाद शिखा त्रिपाठी ने अपने लक्ष्य पर सफलता प्राप्त की।

 गांव की बेटी DRDO में वैज्ञानिक बन करेगी रिसर्च



अमौली/फतेहपुर।देश सेवा का लक्ष्य  प्राप्त करने के लिए दिनरात एक करने वाली बेटी ने रक्षा मंत्रालय के रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन(डीआरडीओ) के

वैज्ञानिक विश्लेषण समूह(SAG) में रिसर्च एसोसिएट पर  स्थान पाकर  जनपद का ही नही अपितु प्रदेश का नाम रोशन कर दिया।

जनपद के अमौली ब्लॉक अंतर्गत कुलखेड़ा की बेटी शिखा त्रिपाठी पुत्री मनोज त्रिपाठी ने दशवी तक की शिक्षा गफूर एजुकेशन सेंटर अमौली से 89℅ अंको के साथ उत्तीर्ण की और इंटर मीडिएट  विकास विद्या मंदिर इंटर कॉलेज जहानाबाद से 93.6%अंक हासिल किया । तथा स्नातक पीपीएन डिग्री कॉलेज कानपुर से  मैथेमेटिक्स डिपार्टमेंट से प्रथम रैंक के साथ उत्तीर्ण किया था।

इसके बाद बनारस हिंदू विश्वविद्यालय की प्रवेश परीक्षा में आल इंडिया 77 वीं रैंक के साथ पास  करके मैथेमेटिक्स एंड कंप्यूटिंग विषय में 86℅ के साथ एमएससी उत्तीर्ण की। तत्पश्चात ऑल इंडिया 110 रैंक के साथ राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा(नेट) और गेट की परीक्षा पास की। इसके बाद आइआइटी मंडी हिमांचल प्रदेश में पीएचडी के लिए चयन हुआ । पर सपना कुछ और बड़ा करने का था जिसके चलते दाखिला नहीं लिया। शिखा अपने घर मे सदैव इसरो व डीआरडीओ में रिसर्च कर देश सेवा करने का अवसर प्राप्त करने की बात करती रहती थी। डीआरडीओ का इंटरब्यू देने के बाद शनिवार को घर पर  ज्वाइनिंग लेटर आया।

रक्षा मंत्रालय के रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन(डीआरडीओ) के

वैज्ञानिक विश्लेषण समूह(SAG) में रिसर्च एसोसिएट के पद पर ज्वाइनिंग लेटर आने के बाद शिखा त्रिपाठी ने अपने लक्ष्य पर सफलता प्राप्त  की।

टिप्पणियाँ
Popular posts
कार ने हाइवे पार कर रही महिलाओं को कुचला, चार की मौत
चित्र
चुनाव ड्यूटी में आये हरदोई का रहने वाला होमगार्ड की बिगड़ी तबियत डॉक्टर ने किया मृत घोषित
चित्र
स्ट्रांग रूम में रखे ईवीएम मशीन के सुरक्षा व्यवस्था का एसपी ने लिया जायजा
चित्र
बडौरी टोल प्लाजा में अधिवक्ता के साथ हुई लूट के साथ गुंडई करते हुए जान से मारने की धमकी दी
चित्र
विश्वकर्मा समाज से सपा गठबंधन के पक्ष मांगे वोट-रामासरे विश्वकर्मा
चित्र