अखिलेश से नहीं है कोई मनभेद, मतभेद होना स्वाभाविक – शिवपाल यादव

अखिलेश से नहीं है कोई मनभेद, मतभेद होना स्वाभाविक – शिवपाल यादव
2022 का चुनाव आने से पहले एक बार फिर सपा और प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के बीच राजनीतिक सरगर्मी तेज हो गई है। एक बयान में प्रसपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि अखिलेश यादव से मेरा कोई मनभेद नहीं है। मतभेद होना स्वाभाविक है पर मनभेद नहीं होना चाहिए। यूपी के विधानसभा चुनाव में अगर हमें सम्मानजनक सीटें मिलती हैं तो हम समाजवादी पार्टी से गठबंधन करेंगे।


बता दें कि शिवपाल यादव मंगलवार को बहराइच के एक मांगलिक कार्यक्रम में शामिल होने के लिए आए हुए थे। उन्होंने कहा कि 2022 में बीजेपी को हराने के लिए हम सभी बड़े राजनीतिक दलों के साथ गठबंधन करेंगे। भाजपा सरकार में नौकरशाही हावी है और विधायकों की सुनवाई नहीं हो रही है। उन्होंने कहा कि किसान और व्यापारी परेशान है। महंगाई लगातार बढ़ रही है। साथ ही उन्होंने कहा कि ये सरकार कोरोना को रोकने में पूरी तरह असफल साबित हुई है। अगर विदेश से आने वाले नागरिकों को एयरपोर्ट पर क्वारंटीन किया जाता तो कोरोना कभी नहीं फैलता।


इससे पहले अखिलेश यादव ने इस सवाल पर कि क्या वह अपने चाचा शिवपाल यादव की पार्टी से भी गठबंधन कर सकते हैं, अखिलेश ने कहा, “उस पार्टी को भी एडजेस्ट करेंगे। जसवंतनगर उनकी (शिवपाल) सीट है। समाजवादी पार्टी ने वह सीट उनके लिए छोड़ दी है और आने वाले समय में उनके लोग मिलें, सरकार बनाएं, हम उनके नेता को कैबिनेट मंत्री भी बना देंगे… और क्या एडजस्टमेंट चाहिए?”