अमेरिकी शोधकर्ताओं ने मस्तिष्क को पौष्टिक आहार के चयन के लिए प्रेरित करने का खोजा उपाय

अमेरिकी शोधकर्ताओं ने मस्तिष्क को पौष्टिक आहार के चयन के लिए प्रेरित करने का खोजा उपाय


(न्यूज़)।इंसान चाहे जितना भी फिटनेस का राग अलापे,अगर उसके सामने चॉकलेट या सेब में से किसी एक को चुनने का विकल्प हो तो वह भले ही से उठाएं पर उसका मन तो चॉकलेट के लिए ही ललचाता है।हालांकि,अब अमेरिकी शोधकर्ताओं ने पौष्टिक आहार को ज्यादा लुभावना बनाने का उपाय खोज निकाला है।शोधकर्ताओं ने तंत्रिका तंत्र की कार्यप्रणाली में कुछ बदलाव लाने में कामयाबी हासिल की है।जिससे दिमाग सेब को चॉकलेट से ज्यादा स्वादिष्ट समझने के लिए प्रेरित होता है।वाशिंगटन यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं के मुताबिक इंसान के सामने जब खाने के कई विकल्प मौजूद होते हैं तो अलग-अलग खाद्य वस्तुओं को देख ऑर्बिटोफ्रंटल कॉर्टेक्स में पाए जाने वाला तंत्रिका तंत्र की कोशिकाओं का अलग-अलग समूह सक्रिय होता है।जो वस्तु मन को ज्यादा आकर्षित करती है,उससे जुड़े न्यूरॉन में ज्यादा हलचल पैदा होती है और व्यक्ति ना चाहते हुए भी संबंधित वस्तु का सेवन कर बैठता है।हालांकि, बंदरों पर शोध के दौरान बिजली के मामूली झटके देकर न्यूरॉन में बदलाव लाने में कामयाब रहे।