केबीसी में चमके फरीदाबाद के यू-ट्यूबर कैरी मिनाटी उर्फ अजय नागर

फरीदाबाद। यू-ट्यूब पर रोस्ट वीडियो से करोड़ों लोगों को फैन बना चुके फरीदाबाद के कैरी मिनाटी उर्फ अजय नागर अब केबीसी में भी छा गए हैं। सोनी टीवी चैनल पर बुधवार रात प्रसारित हुए केबीसी (कौन बनेगा करोड़पति) शो के होस्ट बालीवुड अभिनेता अमिताभ बच्चन के सामने हाट सीट पर हार्दिक पाटिल बैठे थे। अमिताभ बच्चन ने दूसरा सवाल प्रसिद्ध यू-ट्यूबर कैरी मिनाटी के बारे में किया कि अजय नागर किस यू-ट्यूबर का असली नाम है।


 


केबीसी में सवाल पूछे जाने पर कैरी मिनाटी के फैन भी खासे उत्साहित हैं। 21 वर्षीय यू-ट्यूबर के पिता विवेक नागर एडवोकेट हैं। उन्हें सुबह लोगों से फोन पर पता चला कि केबीसी में अजय को लेकर सवाल किया गया। उन्होंने इस पर बेहद खुशी जताई। विवेक नागर कहते हैं कि बेटे पर गर्व है कि उसने अपनी क्रिएटिविटी से इतना नाम कमाया। विवेक बताते हैं कि अजय नागर काम के सिलसिले में अधिकतर बाहर ही रहते हैं। वे चाहते थे कि अजय पढ़-लिखकर प्रशासनिक अधिकारी बने, मगर अजय का दिमाग शुरू से ही क्रिएटिव चीजों की तरफ था। विवेक नागर बताते हैं कि 10 साल की उम्र से ही अजय ने वीडियो बनाना शुरू कर दिया था।


पहले वे उनसे छुपकर वीडियो बनाते थे। जब पिता विवेक को इसका पता चला तो उन्हें अटपटा लगा। मगर बेटे की रुचि देखकर उन्होंने ज्यादा रोकटोक नहीं की। धीरे-धीरे कैरी मिनाटी की आवाज और अंदाज लोगों को भाने लगी। आज यू-ट्यूब पर कैरी मिनाटी के 26.5 मिलियन सबस्क्राइबर हैं। वे एशिया के नंबर एक इंडिपेंडेंट डिजिटल कंटेंट क्रिएटर हैं। कैरी मिनाटी चैनल के बिजनेस हेड दीपक चाड़ ने बताया कि केबीसी में सवाल पूछे जाने पर अजय ने भी खुशी जताई, मगर इसके बाद अपने काम में जुट गए।



यलगार वीडियो ने तोड़ दिए थे सारे रिकार्ड :


कैरी मिनाटी ने इसी साल जून में टिकटाक को रोस्ट करते हुए यलगार नाम से एक वीडियो बनाई थी। यू-ट्यूब पर 24 घंटे के अंदर सबसे ज्यादा बार दुनिया की 20 वीडियो में शामिल हुई। 24 घंटे में यलगार वीडियो को 32.8 मिलियन लोगों ने देखा, वहीं 5.3 मिलियन लाइक मिले। उनकी इस वीडियो ने रातों रात उनके फैंस में इजाफा कर स्टार बना दिया। कैरी मिनाटी के बड़ी भाई यशस्वी नागर भी म्यूजिक कंपोजर हैं। कैरी मिनाटी के अधिकतर गानों कंपोजिंग यशस्वी नागर ही करते हैं। विल्ली फ्रेंजी नाम से उनका अपना यू-ट्यूब चैनल है। देश में रोस्ट वीडियो का ट्रेंड शुरू करने का श्रेय कैरी मिनाटी को जाता है। 


Popular posts
अब बुजुर्गों और माता पिता की देखभाल के लिए मिलेगा 10 हजार रुपये, मोदी सरकार बदलेगी नियम न्यूज़।माता-पिता और बुजुर्गों की देखरेख के लिए अब केंद्र सरकार नया नियम लाने जा रही है. दरअसल, मेंटनेंस और वेलफेयर ऑफ पेरेंट्स और सीनियर सिटिजन (अमेंडमेंट) बिल 2019 पर मानसून सत्र में फैसला लिया जा सकता है. बता दें कि सोमवार से ही मानसून सत्र शुरू हो चुका है। वेलफेयर ऑफ पेरेंट्स और सीनियर सिटिजन (अमेंडमेंट) बिल 2019 केंद्र सरकार के एजेंडा में काफी समय से था. मानसून सत्र की शुरुआत में ही केंद्र सरकार इस बिल को लेना चाहती है. दिसंबर 2019 में पास कर दिया गया था ये नियम। वेलफेयर ऑफ पेरेंट्स और सीनियर सिटिजन बिल कैबिनेट ने दिसंबर 2019 में पास कर दिया था। इस बिल का मकसद लोगों को माता-पिता और वरिष्ठ नागरिकों को छोड़ने से रोकना है। विधेयक में माता-पिता और वरिष्ठ नागरिकों की बुनियादी जरूरतों, सुरक्षा और सुरक्षा को सुनिश्चित करने के साथ उनके भरण-पोषण और कल्याण का प्रावधान बनाया गया है। देश में कोविड-19 महामारी की दो विनाशकारी लहरों के मद्देनज़र आने वाला यह विधेयक मौजूदा सत्र में संसद द्वारा पास होने पर वरिष्ठ नागरिकों और अभिभावकों को अधिक पावर देगा. इस बिल को संसद में लाने से पहले कई बदलाव किये गये हैं. जानें इस नियम से संबंधित अहम जानकारी- वेलफेयर ऑफ पेरेंट्स और सीनियर सिटिजन बिल कैबिनेट ने दिसंबर 2019 में बच्चों का दायरा बढ़ाया गया है। इसमें बच्चे, पोतों (इसमें 18 साल से कम को शामिल नहीं किया गया है) को शामिल किया गया है. इस बिल में सौतेले बच्चे, गोद लिये बच्चे और नाबालिग बच्चों के कानूनी अभिभावकों को भी शामिल किया गया है। अगर ये बिल कानून बन जाता है तो 10,000 रुपये पेरेंट्स को मेंटेनेंस के तौर पर देने होंगे. सरकार ने स्टैंडर्ड ऑफ लिविंग और पेरेंट्स की आय को ध्यान में रखते हुए, ये अमाउंट तय किया है। कानून में बायोलिजकल बच्चे, गोद लिये बच्चे और सौतेले माता पिता को भी शामिल किया गया है। मेंटेनेस का पैसा देने का समय भी 30 दिन से घटाकर 15 दिन कर दिया गया है।
चित्र
तू मेरी गीता पढ़ले मैं पढ़ लू तेरी कुरान, आपस मे भाई चारा निभा के बनायेगे नया हिंदुस्तान
चित्र
पाल सामुदायिक उत्थान समिति की ब्लाक इस्तरीय संगठनात्मक बैठक हुई सम्पन्न
चित्र
कानपुर में ठेले पर पान, चाट और समोसे बेचने वाले 256 लोग निकले करोड़पति
चित्र
योगी सरकार लोगों को देने जा रही फ्री वाईफाई सुविधा
चित्र