टेढ़े-मेढ़े दांत ना सिर्फ दांत-मसूड़ों में सड़न बल्कि दिल और फेफड़ों की गंभीर बीमारियों का भी बन सकती है सबब

 टेढ़े-मेढ़े दांत ना सिर्फ दांत-मसूड़ों में सड़न बल्कि दिल और फेफड़ों की गंभीर बीमारियों का भी बन सकती है सबब



(न्यूज़)।टेढ़े-मेढ़े दांत होना आम बात है। हालांकि ऐसे लोगों को मुंह की सफाई पर खास ध्यान देने की जरूरत है।जरा-सी लापरवाही न सिर्फ दांत-मसूड़ों में सड़न,बल्कि दिल और फेफड़ों की गंभीर बीमारियों का भी सबब बन सकती है।ब्रिटिश ऑर्थोडॉन्टिक सोसायटी के अध्ययन में यह चेतावनी दी गई है।शोधकर्ताओं के मुताबिक टेढ़े-मेढ़े दांतो की सफाई ज्यादा मुश्किल होती है। व्यक्ति भले ही मुंह के हर कोने में ब्रश घूमाएं,लेकिन दांत-मसूड़ों के बीच अक्सर थोड़ा बहुत कचरा जमा रह ही जाता है।यह कचरा जीवाणुओं को पनपने देता है।इससे दांत-मसूड़ों में सड़न की शिकायत सताने लगती है।