अस्पताल में भर्ती पुरुषों के लिए महिलाओं की तुलना में ज्‍यादा घातक हो सकता है कोरोना

 अस्पताल में भर्ती पुरुषों के लिए महिलाओं की तुलना में ज्‍यादा घातक हो सकता है कोरोना



(न्यूज़)।कोरोना वायरस को लेकर एक नया अध्ययन किया गया है।इसमें पाया गया है कि अस्पताल में कोरोना का इलाज करा रहे पुरुषों के लिए यह वायरस ज्यादा घातक हो सकता है।महिलाओं की तुलना में ऐसे पुरुषों में मौत का खतरा 30 फीसद अधिक हो सकता है।अध्ययन में कोरोना से होने वाली मौत के लिए कई कारकों की पहचान की गई है।यह अध्‍ययन क्लीनिकल इंफेक्शियस डिजीज पत्रिका में प्रकाशित हुआ है।अध्ययन में पाया गया है कि अस्पताल में भर्ती उन कोरोना रोगियों में मौत का उच्च खतरा पाया गया,जो पहले से ही मोटापा,उच्च रक्तचाप और डायबिटीज से जूझ रहे थे।यह निष्कर्ष अमेरिकी अस्पतालों में भर्ती किए गए करीब 67 हजार कोरोना पीड़ितों पर किए गए एक अध्ययन के आधार पर निकाला गया है।अमेरिका की मैरीलैंड स्कूल ऑफ मेडिसिन के प्रोफेसर एंटोनी हैरिस ने कहा,अस्पताल में भर्ती ऐसे कोरोना मरीजों का आकलन करना बेहद जरूरी है,जिनमें मौत का उच्च खतरा हो सकता है।इससे खतरे को टालने में मदद मिल सकती है।

Popular posts
योगी की नही विद्युत वितरण खंड प्रथम में चल रही है सपा मानसिकता के रामसनेही की सरकार
चित्र
14 साल की नाबालिग का थाने में हुआ प्रसव:
चित्र
बंदूक के साथ फोटो खिचवाते समय दब गया ट्रिगर, महिला की मौत
चित्र
अगर आता है आपको भी बार-बार पेशाब, तो समझ लीजिए कि शरीर में पनप रही है ये बीमारियां
चित्र
आज हम बात करेंगे फूलन देवी के सहादत दिवस के अवसर पर बात करेंगे कि फुलवा से कैसे फूलन बनी फूलन देवी का विस्तृत परिचय
चित्र