अस्पताल में भर्ती पुरुषों के लिए महिलाओं की तुलना में ज्‍यादा घातक हो सकता है कोरोना

 अस्पताल में भर्ती पुरुषों के लिए महिलाओं की तुलना में ज्‍यादा घातक हो सकता है कोरोना



(न्यूज़)।कोरोना वायरस को लेकर एक नया अध्ययन किया गया है।इसमें पाया गया है कि अस्पताल में कोरोना का इलाज करा रहे पुरुषों के लिए यह वायरस ज्यादा घातक हो सकता है।महिलाओं की तुलना में ऐसे पुरुषों में मौत का खतरा 30 फीसद अधिक हो सकता है।अध्ययन में कोरोना से होने वाली मौत के लिए कई कारकों की पहचान की गई है।यह अध्‍ययन क्लीनिकल इंफेक्शियस डिजीज पत्रिका में प्रकाशित हुआ है।अध्ययन में पाया गया है कि अस्पताल में भर्ती उन कोरोना रोगियों में मौत का उच्च खतरा पाया गया,जो पहले से ही मोटापा,उच्च रक्तचाप और डायबिटीज से जूझ रहे थे।यह निष्कर्ष अमेरिकी अस्पतालों में भर्ती किए गए करीब 67 हजार कोरोना पीड़ितों पर किए गए एक अध्ययन के आधार पर निकाला गया है।अमेरिका की मैरीलैंड स्कूल ऑफ मेडिसिन के प्रोफेसर एंटोनी हैरिस ने कहा,अस्पताल में भर्ती ऐसे कोरोना मरीजों का आकलन करना बेहद जरूरी है,जिनमें मौत का उच्च खतरा हो सकता है।इससे खतरे को टालने में मदद मिल सकती है।

Popular posts
सपा नेत्री के नेतृत्व में निकाला गया कैंडल जलूस
इमेज
उम्मेदपुर गांव में गलत तरीके से सरकारी राशन की दुकान आवंटित किए जाने से नाराज सैकड़ों महिलाओं ने जिलाधिकारी को सौंपा ज्ञापन
इमेज
मलवा ब्लाक में CDPO से आंगनबाड़ी कार्यकर्ता पीड़ित, हो रही अवैध वसूली 
इमेज
हवन पूजन के पश्चात स्थान दूधी कगार शोभन सरकार का मेला शुक्रवार से शुरू
इमेज
विश्व का पहला देश इटली ने कोविड-19 से मृत शरीर का पोस्टमार्टम कराकर पता किया कि शरीर में कोरोना वायरस नहीं है