सीएचसी के जर्जर आवासो से कभी भी हो सकता बड़ा हादसा

 सीएचसी के जर्जर आवासो से कभी भी हो सकता बड़ा हादसा




सीवर तथा नालियों का गंदा पानी आवासों के आंगन में भरता


कर्मचारियों ने अधीक्षक से लगाई  की गुहार


गिरिराज शुक्ला

बिंदकी फतेहपुर

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र परिसर में बने आवासीय भवन पूरी तरह से जर्जर हो चुके हैं कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है लोग दुर्घटना में घायल हो सकते हैं इतना ही नहीं जानलेवा भी हो सकता है ताज्जुब इस बात का है कि जो स्वास्थ्य कर्मचारी दूसरे का स्वास्थ्य का ध्यान रखते हैं उनका ही जीवन एवं स्वास्थ्य संकट में है नालियों तथा सीवर का गंदा पानी उनके आंगन में भर रहा है

        जानकारी के अनुसार नगर के ललौली चौराहे के समीप स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के आवास इस समय जर्जर हालात में है इनमें कई परिवार रहते भी हैं जर्जर छज्जे लगातार टूट रहे हैं कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है आवासों में रह रहे परिवार या उनके सदस्य दुर्घटना का शिकार होकर घायल हो सकते हैं या जानलेवा भी बन सकता है यही नहीं जो स्वास्थ्य कर्मचारी दूसरे के स्वास्थ्य के लिए लगातार कार्य करते हैं उनका भी जीवन और स्वास्थ्य पूरी तरह से संकट में है आवासों के आंगन में सीवर तथा नालियों का का गंदा पानी भरा रहता है जिससे भीषण प्रदूषण रहता है ऐसे में संक्रामक बीमारी भी फैलने की पूरी तरह से आशंका बनी हुई है ऐसी स्थिति में परेशान कर्मचारियों ने स्वास्थ्य विभाग के उच्चाधिकारियों से आवासों की मरम्मत इति करण तथा शौचालय तथा नालियों की सफाई की मांग की है इस मौके पर पीड़ि स्वास्थ्य विभाग के उच्चाधिकारियों से आवासों की मरम्मत इति करण तथा शौचालय तथा नालियों की सफाई की मांग की है इस मामले में पीड़ित वार्ड बॉय नरेंद्र दुबे ने बताया कि उनके आवास का छज्जा पूरी तरह से टूट चुका है उनके बच्चों के ऊपर टूटे छज्जे के प्लास्टर ईट गिरते रहते हैं जिससे उनके बच्चे चोटिल हो जाते हैं यही नहीं आवास के आंगन में सीवर तथा नालियों का गंदा पानी भी भर जाता है जिससे जीवन दूभर हो गया है वही इस संबंध में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के अधीक्षक डॉ सुनील चौरसिया ने कहा इस समस्या को स्वास्थ्य विभाग के उच्चाधिकारियों से अवगत कराया गया है ताकि आवासों का जीर्णोद्धार हो सके तथा सीवर एवं नालियों की सफाई हो सके