उत्तर प्रदेश में जबरन धर्मांतरण कराने वाले को 10 वर्ष तक की सजा,50 हजार जुर्माने का प्रावधान

 उत्तर प्रदेश में जबरन धर्मांतरण कराने वाले को 10 वर्ष तक की सजा,50 हजार जुर्माने का प्रावधान



न्यूज़।उत्तर प्रदेश सरकार की कैबिनेट ने बड़ा फैसला करते हुए जबरन धर्म परिवर्तन रोकने के लिए यूपी विधि विरुद्ध धर्म संपरिवर्तन प्रतिषेध विधेयक-2021 के मसौदे को मंजूरी दे दी। इसके तहत,अगर कोई व्यक्ति,जबरन, लालच देकर, दबाव बनाकर या अपने प्रभाव में लेकर किसी का धर्म परिवर्तन कराता है तो उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई जाएगी। यह एफआईआर पीड़ित के माता-पिता, भाई-बहन या कोई भी रक्त या विवाह संबंधी और गोद लिया हुआ व्यक्ति करा सकता है।इस विधेयक में जबरन धर्मांतरण पर अलग-अलग श्रेणियों में एक वर्ष से लेकर 10 वर्ष तक की सजा और पंद्रह हजार से लेकर पचास हजार रुपये तक के जुर्माने का प्रावधान किया गया है। कोर्ट को यह अधिकार दिया गया है कि वह पीड़ित को क्षतिपूर्ति के तहत पांच लाख रुपये तक का हर्जाना देने का आदेश भी कर सकता है। यही नहीं एक से अधिक बार धर्मांतरण से जुड़ा अपराध करने पर दोगुनी सजा का प्रावधान है।

Popular posts
चार माह बीतने के बाद भी दलित महिला प्रधान को नहीं मिला चार्ज
चित्र
योगी सरकार ने छात्रवृत्ति का बदला नियम, जानिए पैसे लेने के लिए करना होगा क्या नया काम
चित्र
प्रेम प्रसंग के चलते प्रेमी युगल हुए एक दूजे के
चित्र
दिल्ली के निर्भया कांड में आरोपियों को फांसी की सजा दिलाने वाली देश की चर्चित अधिवक्ता सीमा समृद्धि लड़े गीं कानपुर की निर्भया का केस
चित्र
प्यार दे कर जो हमें विदा हुए संसार से,
चित्र