मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बांदा में आयोजित कार्यक्रम के मंच से नाम लिए बगैर विपक्षियों पर जमकर प्रहार किए

 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बांदा में आयोजित कार्यक्रम के मंच से नाम लिए बगैर विपक्षियों पर जमकर प्रहार किए

न्यूज़ ऑफ फतेहपुर


बाँदा संवाददाता।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बिना नाम लिए विपक्षियों फारुख ऑफ साधा निशाना लोगों को गुमराह करते रहे पहले की सरकारें और  कहा, परिवारवाद और वंशवाद वालों ने जमकर लूट मचाई और बुंदेलखंड के विकास की बजाए अपनी जेबें भरते रहे। बुंदेलखंड के लोगों ने हमेशा खुद को ठगा महसूस किया। चार सालों के अंदर विकास की बयार बह चली है, हर क्षेत्र में विकास दिखाई दे रहा है। आपकी आस्था, सम्मान और विकास जैसे हर मामले में सरकार आपके साथ है।

पूर्व प्रस्तावित कार्यक्रम के तहत महोबा और चित्रकूट के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ दोपहर करीब एक बजे जीआइसी मैदान में आयोजित कार्यक्रम स्थल पर पहुंचे।उन्होंने बांदा में 17 परियोजनाओं का लोकार्पण और 27 का शिलान्यास तथा हमीरपुर में 61 का लोकार्पण 20 का शिलान्यास करने के बाद जनसभा को संबोधित किया। उन्होंने सबसे पहले महाशिवरात्रि की बधाई दी और सभी की खुशहाली की कामना की। साथ ही उन्होंने एक हजार करोड़ रुपये की परियोजनाओं के लोकार्पण और शिलान्यास की बधाई दी। उन्होंने कहा कि मैं कल से बुंदेलखंड में हूं, पांच छह महीने पहले चित्रकूट के पास आया था और करीब जून 2020 में बुंदेलखंड के पाइप पेयजल योजना के शुभारंभ पर झांसी आया था।

रसिन बांध के लोकार्पण पर मुख्यमंत्री बोले- जो कहते हैं मोदी-योगी ने क्या किया, अब उन्हें जवाब दें किसान

इसके उपरांत पिछला एक वर्ष पूरे देश के लिए चुनौतीपूर्ण रहा। कोरोना काल में सबकुछ अस्तवयस्त हो गया, इस घड़ी में हालात पर नियंत्रण रखते हुए प्रधानमंत्री ने हर वर्ग का ख्याल रखा। पीएम सम्मान निधि, मुफ्त में राशन और नौजवानों को रोजगार देने का प्रयास किया गया। कोरोना से बहुत बड़ी लड़ाई है और कोरोना अभी समाप्त नहीं हुआ है। साठ साल से ऊपर लोग फ्री में वैक्सीनेशन कराएं। प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति समेत सभी बड़े नेताओं और लोगों ने वैक्सीन लगवाई है। सभी लोग जरूर से जरूर वैक्सीनेशन कराएं। साथ ही दो गज की दूरी और मास्क है जरूरी का पालन करने का आह्वान किया। संबोधन से पहले मंच से बटन दबाकर 924 करोड़ रुपये की परियोजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास किया।

168 का लोकार्पण व 61 का शिलान्यास मुख्यमंत्री ने 229 परियोजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास किया। इसमें 168 परियोजनाएं लोकार्पण व 61 शिलान्यास की शामिल हैं। बांदा में 17 परियोजनाओं का लोकार्पण, 27 का शिलान्यास, हमीरपुर में 61 का लोकार्पण 20 का शिलान्यास, महोबा में 71 का लोकार्पण छह का शिलान्यास एवं चित्रकूट में 19 का लोकार्पण व आठ का शिलान्यास किया है।

बांदा की यह परियोजनाएं शामिल हैं ।मंडल मुख्यालय बांदा में बुंदेलखंड पैकेज के अंतर्गत कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय परिसर में केन नदी से सिंचाई सुविधा उपलब्ध कराना। अतर्रा में किसान कल्याण केंद्र, मुख्यालय स्थित पशु चिकित्सा पाली क्लीनिक, मर्का में राजकीय इंटर कालेज का निर्माण, रगौली भटपुरा में वृहद गोसंरक्षण केंद्र, गोवंश वन्य विहार, बांदा की राजकीय पौधशाला में बाउंड्रीवाल, इंटरलॉकिंग, वर्किंग शेड, कृषि विश्वविद्यालय में छात्रावास, स्टूडेंट एजूकेशन फार्म, पुलिस लाइन में ट्रांजिस्ट हास्टल, बबेरू के रयान में राजकीय पालीटेक्निक, महुआ के कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय में एकेडमी ब्लाक व हास्टल, जनपदीय वेयर हाउस, हरदौली के राजकीय आश्रम पद्धति विद्यालय में ट्रांजिट हास्टल, डाएट का सुंदरीकरण, कृषि विश्वविद्यालय में बकरी शेड का निमा्रण, बांदा नगर में 32 केएलडी एफएसटीपी नवीन मानसिक मंद्धित आश्रय गृह, सह प्रशिक्षण केंद्र, नवीन ममता राजकीय मानसिक मंदता विद्यालय, सैनिक पुनर्वास कल्याण भवन का निर्माण व विश्राम गृह का जीर्णाेद्धार, नरैनी, बदौसा, गिरवां, काङ्क्षलजर, अतर्रा, चिल्ला, जसपुरा, पैलानी, ङ्क्षतदवारी, मटौंध, बबेरू व देहात कोतवाली थाने में हास्टल, बैरक, विवेचना कक्ष का निर्माण, जिला कारागार में आवास निर्माण, सिंधनकला में गोवंश वन्य विहार, राजकीय पालीटेक्निक में छात्रावास व सीसी रोड, महिला डिग्री कालेज में लेक्चर रूम, लेबोटरी, कृषि विश्वविद्यालय में पशु चिकित्सा एवं पशुपालन महाविद्यालय, जबरापुर व ओरन में पशु चिकित्सालय के आवासीय व अनावासीय भवन, पैलानी में राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान का निर्माण शामिल है। इसी तरह हमीरपुर, चित्रकूट महोबा के कार्यों का लोकार्पण व शिलान्यास जनसभा स्थल में किया जाएगा।

Popular posts
चार माह बीतने के बाद भी दलित महिला प्रधान को नहीं मिला चार्ज
चित्र
योगी सरकार ने छात्रवृत्ति का बदला नियम, जानिए पैसे लेने के लिए करना होगा क्या नया काम
चित्र
प्रेम प्रसंग के चलते प्रेमी युगल हुए एक दूजे के
चित्र
दिल्ली के निर्भया कांड में आरोपियों को फांसी की सजा दिलाने वाली देश की चर्चित अधिवक्ता सीमा समृद्धि लड़े गीं कानपुर की निर्भया का केस
चित्र
प्यार दे कर जो हमें विदा हुए संसार से,
चित्र