नियमित रूप से व्यायाम करने पर टाइप-टू डायबिटीज होने की संभावना होती है कम

 नियमित रूप से व्यायाम करने पर टाइप-टू डायबिटीज होने की संभावना होती है कम



न्यूज़।एक नए अध्ययन से पता चला है कि अगर कोई व्यक्ति नियमित रूप से व्यायाम करता है तो उसे टाइप टू डायबिटीज होने की संभावना बहुत कम होती है। यह शोध द जनरल ऑफ द यूरोपियन एसोसिएशन फॉर द स्टडी ऑफ डायबिटीज में प्रकाशित हुआ है। चाइनीस यूनिवर्सिटी आफ हॉन्ग कोंग के प्रोफेशन लाओ झियांग किन के मुताबिक यह पहला ऐसा शोध है, जिसमें टाइप टू डायबिटीज पर व्यायाम और प्रदूषण के खतरे की प्रभावों का पता लगाया गया है। साक्ष्यों से पता चलता है कि वायु प्रदूषण टाइप टू डायबिटीज की एक बड़ी वजह है। इसका सबसे बड़ा कारण यह है कि व्यायाम के दौरान प्रदूषण सांस के जरिए हमारे शरीर में जाता है जिससे हम बीमारी की चपेट में आ जाते हैं।

Popular posts
रेवाड़ी कि रामलीला मे जीवंत मंचन ने मोहा मन
चित्र
20 घंटे बाद कुवे से निकाला जा सका युवक का शव
चित्र
दहेज न दे पाने पर फ़ोन से लड़के ने शादी तोड़ी,लड़की ने लगाई फांसी
चित्र
प्रेम प्रसंग के चलते युवक ने फांसी लगाकर की आत्महत्या पुलिस ने शव को पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा
चित्र
उत्तर प्रदेश में बकाएदार बिजली उपभोक्ताओं के लिए समाधान योजना आज से, सीएम योगी आद‍ित्‍यनाथ के न‍िर्देश पर कई र‍ियायतें
चित्र