नियमित रूप से व्यायाम करने पर टाइप-टू डायबिटीज होने की संभावना होती है कम

 नियमित रूप से व्यायाम करने पर टाइप-टू डायबिटीज होने की संभावना होती है कम



न्यूज़।एक नए अध्ययन से पता चला है कि अगर कोई व्यक्ति नियमित रूप से व्यायाम करता है तो उसे टाइप टू डायबिटीज होने की संभावना बहुत कम होती है। यह शोध द जनरल ऑफ द यूरोपियन एसोसिएशन फॉर द स्टडी ऑफ डायबिटीज में प्रकाशित हुआ है। चाइनीस यूनिवर्सिटी आफ हॉन्ग कोंग के प्रोफेशन लाओ झियांग किन के मुताबिक यह पहला ऐसा शोध है, जिसमें टाइप टू डायबिटीज पर व्यायाम और प्रदूषण के खतरे की प्रभावों का पता लगाया गया है। साक्ष्यों से पता चलता है कि वायु प्रदूषण टाइप टू डायबिटीज की एक बड़ी वजह है। इसका सबसे बड़ा कारण यह है कि व्यायाम के दौरान प्रदूषण सांस के जरिए हमारे शरीर में जाता है जिससे हम बीमारी की चपेट में आ जाते हैं।

Popular posts
सपा नेत्री के नेतृत्व में निकाला गया कैंडल जलूस
इमेज
उम्मेदपुर गांव में गलत तरीके से सरकारी राशन की दुकान आवंटित किए जाने से नाराज सैकड़ों महिलाओं ने जिलाधिकारी को सौंपा ज्ञापन
इमेज
मलवा ब्लाक में CDPO से आंगनबाड़ी कार्यकर्ता पीड़ित, हो रही अवैध वसूली 
इमेज
हवन पूजन के पश्चात स्थान दूधी कगार शोभन सरकार का मेला शुक्रवार से शुरू
इमेज
विश्व का पहला देश इटली ने कोविड-19 से मृत शरीर का पोस्टमार्टम कराकर पता किया कि शरीर में कोरोना वायरस नहीं है