नियमित रूप से व्यायाम करने पर टाइप-टू डायबिटीज होने की संभावना होती है कम

 नियमित रूप से व्यायाम करने पर टाइप-टू डायबिटीज होने की संभावना होती है कम



न्यूज़।एक नए अध्ययन से पता चला है कि अगर कोई व्यक्ति नियमित रूप से व्यायाम करता है तो उसे टाइप टू डायबिटीज होने की संभावना बहुत कम होती है। यह शोध द जनरल ऑफ द यूरोपियन एसोसिएशन फॉर द स्टडी ऑफ डायबिटीज में प्रकाशित हुआ है। चाइनीस यूनिवर्सिटी आफ हॉन्ग कोंग के प्रोफेशन लाओ झियांग किन के मुताबिक यह पहला ऐसा शोध है, जिसमें टाइप टू डायबिटीज पर व्यायाम और प्रदूषण के खतरे की प्रभावों का पता लगाया गया है। साक्ष्यों से पता चलता है कि वायु प्रदूषण टाइप टू डायबिटीज की एक बड़ी वजह है। इसका सबसे बड़ा कारण यह है कि व्यायाम के दौरान प्रदूषण सांस के जरिए हमारे शरीर में जाता है जिससे हम बीमारी की चपेट में आ जाते हैं।

Popular posts
योगी की नही विद्युत वितरण खंड प्रथम में चल रही है सपा मानसिकता के रामसनेही की सरकार
चित्र
14 साल की नाबालिग का थाने में हुआ प्रसव:
चित्र
भ्रष्ट अधिशासी अभियंता के रहते नहीं हो सकता है योगी सरकार का सपना साकार- तिवारी
चित्र
राजकीय पॉलिटेक्निक बिंदकी के छात्रों द्वारा जैविक पेंट (गोबरपेंट) का किया गया निर्माण
चित्र
अगर आता है आपको भी बार-बार पेशाब, तो समझ लीजिए कि शरीर में पनप रही है ये बीमारियां
चित्र