आतंकी कनेक्शन: LIU के राडार पर 27 लोग, पूछताछ के बाद सशर्त छोड़ा

 आतंकी कनेक्शन: LIU के राडार पर 27 लोग, पूछताछ के बाद सशर्त छोड़ा



न्यूज़।उत्तर प्रदेश के कानपुर में आंतकी मामले में ATS (एंटी टेररिस्ट स्क्वाड) ने 27 लोगों से कड़ी पूछताछ के बाद उन्हें सशर्त छोड़ दिया। सभी के आधार कार्ड ले लिए गए हैं। इसके साथ ही चेतावनी दी गई है कि हाल ही में पकड़े गए संदिग्ध आतंकियों मिनहाज, मसरुद्दीन, शकील, मुस्तकीम और मुहम्मद जैद की रिमांड पूरी नहीं हो जाती है। तब तक कोई भी शहर छोड़कर नहीं जा सकता है।

सभी को 24 घंटे में एक बार संबंधित थाने में जाकर अपनी उपस्थित दर्ज करानी होगी। इस दौरान ये सभी LIU (लोकल इंटेलिजेंस यूनिट) की निगरानी में रहेंगे। इंट्रोगेशन रूम में शहर के जाजमऊ, चकेरी, लालबंगला, मछरिया, बेकनगंज, कल्याणपुर, पनकी क्षेत्र और अन्य क्षेत्रों के प्रोफेसर, बिल्डर, मोबाइल सिम विक्रेता समेत 27 लोगों से पूछताछ हुई है।

ATS की जांच का दायरा

लखनऊ से पकड़े गए अलकायदा के संदिग्ध आतंकी मिनहाज और उसके साथियों के तार कई शहरों से जुड़े हैं। कानपुर, गाजियाबाद और मुजफ्फरनगर समेत अन्य जिलों से असलहे खरीदे जाने की बात सामने आने के बाद कई टीमों को सक्रिय किया गया है। कई असलहा तस्कर भी ATS के निशाने पर है। आतंकियों को अब कई स्थानों पर ले जाने की तैयारी है। लगातार पूछताछ में नए नए तथ्य सामने आ रहे हैं। सभी से अलग-अलग पूछताछ करने के बाद क्रॉस चेकिंग की तर्ज पर इन्हें आमने सामने लाकर बयानों की समीक्षा की जा रही है। पूछताछ में सामने आए तथ्यों की समीक्षा भी की जा रही है।


छोटे शहरों में भी फैलाया अपना जाल


ऐसा पहली बार देखने को मिल रहा है कि आतंकी गतिविधियों के लिए छोटे शहरों को भी निशाना बनाया गया है। धर्मांतरण का मामला हो या आतंकवादियों की गिरफ्तारी, दोनों ही में कानपुर के आसपास के जिलों फतेहपुर,उन्नाव और औरैया का भी नाम सामने आया है। गरीब तबके के मजबूर लोग आसानी से इनके बहकावे में आ जाते हैं। जिसका ये खुलकर फायदा उठाते हैं। पहले उन्हें अपने संपर्क में रहने वालों से काम दिलवाते हैं, इसमें स्लीपर सेल्स अपने काम को बाखूबी अंजाम देते हैं।


अब तक 5 संदिग्ध आतंकी पकड़े गए


11 जुलाई को संदिग्ध आतंकी मिनहाज और मसीरुद्दीन की गिरफ्तारी हुई थी। उसके बाद 14 जुलाई को तीन और संदिग्धों को पकड़ा है। इनमें शकील, मुस्तकीम और मुईद शामिल हैं। इन तीनों पर असलहा, बारूद उपलब्ध कराने का आरोप है। वहीं, सूत्रों के मुताबिक, कानपुर से लईक और आफाक को हिरासत में लेकर पूछताछ जारी है।

Popular posts
अब बुजुर्गों और माता पिता की देखभाल के लिए मिलेगा 10 हजार रुपये, मोदी सरकार बदलेगी नियम न्यूज़।माता-पिता और बुजुर्गों की देखरेख के लिए अब केंद्र सरकार नया नियम लाने जा रही है. दरअसल, मेंटनेंस और वेलफेयर ऑफ पेरेंट्स और सीनियर सिटिजन (अमेंडमेंट) बिल 2019 पर मानसून सत्र में फैसला लिया जा सकता है. बता दें कि सोमवार से ही मानसून सत्र शुरू हो चुका है। वेलफेयर ऑफ पेरेंट्स और सीनियर सिटिजन (अमेंडमेंट) बिल 2019 केंद्र सरकार के एजेंडा में काफी समय से था. मानसून सत्र की शुरुआत में ही केंद्र सरकार इस बिल को लेना चाहती है. दिसंबर 2019 में पास कर दिया गया था ये नियम। वेलफेयर ऑफ पेरेंट्स और सीनियर सिटिजन बिल कैबिनेट ने दिसंबर 2019 में पास कर दिया था। इस बिल का मकसद लोगों को माता-पिता और वरिष्ठ नागरिकों को छोड़ने से रोकना है। विधेयक में माता-पिता और वरिष्ठ नागरिकों की बुनियादी जरूरतों, सुरक्षा और सुरक्षा को सुनिश्चित करने के साथ उनके भरण-पोषण और कल्याण का प्रावधान बनाया गया है। देश में कोविड-19 महामारी की दो विनाशकारी लहरों के मद्देनज़र आने वाला यह विधेयक मौजूदा सत्र में संसद द्वारा पास होने पर वरिष्ठ नागरिकों और अभिभावकों को अधिक पावर देगा. इस बिल को संसद में लाने से पहले कई बदलाव किये गये हैं. जानें इस नियम से संबंधित अहम जानकारी- वेलफेयर ऑफ पेरेंट्स और सीनियर सिटिजन बिल कैबिनेट ने दिसंबर 2019 में बच्चों का दायरा बढ़ाया गया है। इसमें बच्चे, पोतों (इसमें 18 साल से कम को शामिल नहीं किया गया है) को शामिल किया गया है. इस बिल में सौतेले बच्चे, गोद लिये बच्चे और नाबालिग बच्चों के कानूनी अभिभावकों को भी शामिल किया गया है। अगर ये बिल कानून बन जाता है तो 10,000 रुपये पेरेंट्स को मेंटेनेंस के तौर पर देने होंगे. सरकार ने स्टैंडर्ड ऑफ लिविंग और पेरेंट्स की आय को ध्यान में रखते हुए, ये अमाउंट तय किया है। कानून में बायोलिजकल बच्चे, गोद लिये बच्चे और सौतेले माता पिता को भी शामिल किया गया है। मेंटेनेस का पैसा देने का समय भी 30 दिन से घटाकर 15 दिन कर दिया गया है।
चित्र
तू मेरी गीता पढ़ले मैं पढ़ लू तेरी कुरान, आपस मे भाई चारा निभा के बनायेगे नया हिंदुस्तान
चित्र
पाल सामुदायिक उत्थान समिति की ब्लाक इस्तरीय संगठनात्मक बैठक हुई सम्पन्न
चित्र
कानपुर में ठेले पर पान, चाट और समोसे बेचने वाले 256 लोग निकले करोड़पति
चित्र
योगी सरकार लोगों को देने जा रही फ्री वाईफाई सुविधा
चित्र