आचार्यकुलम द्वारा जन कल्याण हेतु आयोजित सामूहिक महा रुद्राभिषेक कार्यक्रम हुआ सम्पन्न

 आचार्यकुलम द्वारा जन कल्याण हेतु आयोजित सामूहिक महा रुद्राभिषेक कार्यक्रम हुआ सम्पन्न



फतेहपुर।आचार्यकुलम के विद्वान ब्राह्मणों द्वारा संपन्न कराया गया कार्यक्रम में यजमान के रूप में बिंदकी विधायक करण सिंह  की धर्मपत्नी शांति देवी, भाजपा नेता डॉक्टर शिव प्रसाद त्रिपाठी, सुशील मिश्रा एडवोकेट, निवर्तमान अध्यक्ष बार एसोसिएशन धनंजय द्विवेदी, विधानसभा संयोजक अनुराग श्रीवास्तव, समाजसेवी विमलेश तिवारी, विशेष बाजपेई एडवोकेट, रश्मि मिश्रा, संगीता द्विवेदी समाजसेवी आदि मौजूद रहे। आचार्य  रविशंकर मिश्रा, अशोक बाजपेई, आचार्य प्रदीप तिवारी, प्रकाश त्रिपाठी चंद्रिका शुक्ला, रमेश द्विवेदी सहित 11 आचार्यों ने अभिषेक संपन्न कराया । 

इसके पश्चात आचार्यकुलम की एक बैठक संपन्न हुई बैठक की अध्यक्षता आचार्य विनोद शुक्ला ने की संचालन रमानाथ द्विवेदी ने किया बैठक पर आचार्यकुलम आईटी प्रमुख अभिलाष दीक्षित को मनोनीत किया। जिनका करतल  ध्वनि से स्वागत किया गया तथा कोरोनावायरस में मारे गए अकाल काल कवलीत हुए लोगों को मोक्ष प्राप्ति की भावना से श्रीमद्भागवत पुराण आयोजन पितर मुक्ति यज्ञ आयोजन पर चर्चा हुई। जिसमें समाज में जिनके यहां भी अपने परिवार में अकाल मृत्यु में मारे गए परिजनों के कल्याण हेतु मृतकों के नाम से जो  पुराण कराना चाहते हैं उनको भी अपनी पोथी रखने का अवसर दिया जाएगा उक्त कार्यक्रम कृष्ण पक्ष अष्टमी से प्रारंभ होकर पितृ विसर्जन अमावस्या को समाप्त होगा l कार्यक्रम  में प्रमुख रूप से विभाग प्रचारक सर्वेश अशोक तपस्वी वरिष्ठ समाजसेवी देवेंद्र श्रीवास्तव, कोटेश्वर शुक्ला, प्रमोद शुक्ला, रविंद्र द्विवेदी, जुगल किशोर मिश्रा, राकेश त्रिवेदी, रामगोपाल त्रिवेदी, राजेंद्र त्रिपाठी आचार्य, शिव शंकर आचार्य, विनय द्विवेदी, अमित शुक्ला, देवनारायण देवेंद्र सिंह एडवोकेट आदि तमाम लोग रहे मौजूद।

Popular posts
बुंदेलखंड जन अधिकार पार्टी ने जिलाध्यक्ष हनुमान प्रसाद दास राजपूत को विधानसभा बांदा सदर से प्रत्याशी किया घोषित,
चित्र
उत्तर प्रदेश फ्री स्मार्ट फोन और टैबलेट योजना 2021: इंतजार खत्म, योगी सरकार इसी माह से करेगी वितरण
चित्र
राजस्व वसूली एवं सरकारी कार्य में बाधा उत्पन्न करने वाले के विरुद्ध दर्ज हुई एफ आई आर
चित्र
दूल्हे के शराब पीने से दुल्हन ने तोड़ी शादी, कहा-शराबी के साथ पूरी ज़िंदगी नहीं गुजार सकती
चित्र
कान्हा गौशाला मलाका में प्रथम नेत्र चिकित्सा शिविर का हुआ आयोजन
चित्र