बिंदकी विधानसभा में टिकट पाने के लिए सियासत जोरों से शुरू

 बिंदकी विधानसभा में टिकट पाने के लिए सियासत जोरों से शुरू



फतेहपुर।बिंदकी विधानसभा में एक बार फिर टिकट की सियासत पूर्ण रूप से जारी बताते चलें बिंदकी विधानसभा से कई दावेदार अपने नेता राजनेता व समाजसेवी होने का दावा करते हैं कहां तक सच्चे व कहां तक ईमानदार स्वच्छ सुंदर छवि यह सारी बातें जनता के आकलन समाज में बदलाव में बड़ी भूमिका निभाएंगे सूबे के पूर्व मुख्यमंत्री जनाब अखिलेश यादव साफ कर चुके हैं किसी भी प्रकार विधानसभा टिकट से संबंधित प्रचार रूपी वार्तालाप को छोड़कर किसी भी विधानसभा का टिकट फिलहाल निश्चित नहीं हुआ है यह जानकारी प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल जी लगातार कार्यकर्ता संबंधित जिले के जिला अध्यक्ष प्रदेश कमेटी राष्ट्रीय कमेटी कुल लगातार देते आ रहे हैं जमीनी स्तर पर कार्य शिवाय आम कार्यकर्ता कि कोई नहीं करता  अब बात करते हैं विधानसभा बिंदकी 239 ठा. विजय सिंह पूर्व महामंत्री डीबीए भी अपने दल बल के साथ लगातार क्षेत्र वासियों की समस्याएं सुनकर तत्काल प्रभाव से निस्तारण करने का हर संभव प्रयास करते हैं गौरतलब यह है पेशे से अधिवक्ता व जनता में मिलनसार स्वभाव उनकी राजनीतिक कैरियर को सीधा फायदा पहुंचा सकता है बातें लंबी हैं समय कम है दावेदारों की लिस्ट बहुत बड़ी है अगर एक बार नजर डालें दावेदारों में जगदीश सिंह चौहान अध्यक्ष डिस्ट्रिक्ट बार एसोसिएशन फतेहपुर दयालु गुप्ता वंदना राकेश शुक्ला अनु मिश्रा धर्मेंद्र पटेल जंग बहादुर सिंह मखलू इत्यादि लोग काका झुकते दिख रहे हैं लेकिन यह कहावत इस बार बिल्कुल सही बैठेगी जो दिखेगा वही बिकेगा इसका आप सीधा संबंध विधानसभा चुनाव 2022 से भी जोड़ सकते हैं देखने लायक यह है किसकी होती है ताजपोशी कौन होगा विधानसभा बिंदकी का नया जनप्रतिनिधि।

Popular posts
जिले में महिलाओं के हत्या युक्त अज्ञात शव मिलने का नहीं थम रहा सिलसिला 3 दिन पहले मिली थी हत्या युक्त महिला का शव अभी तक नहीं हुई कोई शिनाख्त
चित्र
योगी सरकार ने छात्रवृत्ति का बदला नियम, जानिए पैसे लेने के लिए करना होगा क्या नया काम
चित्र
प्रेम प्रसंग के चलते प्रेमी युगल हुए एक दूजे के
चित्र
15 हजार से कमाई कम तो मिलेगा बीमा और आयुष्मान कार्ड का लाभ, करना होगा यह काम
चित्र
दिल्ली के निर्भया कांड में आरोपियों को फांसी की सजा दिलाने वाली देश की चर्चित अधिवक्ता सीमा समृद्धि लड़े गीं कानपुर की निर्भया का केस
चित्र