मार्ग बाधित होने से गुस्साए ग्रामीणों ने लगाया जाम।

 मार्ग बाधित होने से गुस्साए ग्रामीणों ने लगाया जाम।



संवाददाता बाँदा :- पूरा मामला जनपद के मटौंध थाना क्षेत्र के दुरेडी अंडर ब्रिज का है।विगत दिनों रेलवे अंडर ब्रिज का टनल गिरने से बाधित हो गया था मार्ग। एक सप्ताह गुजर जाने के बाद भी नही खोला जा सका मार्ग।जिससे

मार्ग बाधित होने से गुस्साए ग्रामीणों ने लगाया जाम।

ग्रामीणों के जाम लगाने की सूचना मिलने पर पहुचे रेलवे व जिले के अधिकारी।

रेलवे अधिकारी ने कहा जल्द ही खोला जाएगा मार्ग। और

अंडर ब्रिज का निर्माण करने वाली कंपनी पर भी की जा रही है कार्यवाही

ग्रामीणों द्वारा कई बार अधिकारियों को अवगत कराया गया है। उसके बाद भी जनता की समस्याओं की तरफ अधिकारी ध्यान नहीं दे है। जिससे नारजा स्थानीय लोगों ने चक्का जाम कर प्रदर्शन किया। वहीं धरना प्रदर्शन की जानकारी होते ही जिले के उच्च अधिकारियों ने घटनास्थल पर पहुंच कर लोगों को समझा बुझाकर धरना को समाप्त कराया।

बता दें कि कुछ दिन पहले बांदा और मध्यप्रदेश को जोड़ने वाले संपर्क मार्ग में बने रेलवे अंडरब्रिज की दीवार गिर गयी थी। जिसके बाद दर्जनों गांवों के लोगों का आवागमन ठप्प हो गया है। लोग खेतो से जाने को मजबूर हैं। लिहाजा आज आक्रोशित ग्रामीणों ने चक्का जाम कर प्रदर्शन किया । मौके पर पहुंचे रेलवे के आला अधिकारियों ने बताया कि कार्यदायी संस्था के खिलाफ एफआईआर दर्ज करा दी गयी है। और एसआईटी जांच बैठा दी गयी है। वही ग्रामीणों को निकालने के लिए निर्माण होने तक रेलवे फाटक खुलवाने के लिए ऊपर पत्र लिख दिया गया है। अधिकारियों के तमाम आश्वासन के बाद ग्रामीण शांत हुए। वहीं ग्रामीणों का आरोप है कि रेलवे अंडर ब्रिज का टनल गिरने से आवागमन पूर्ण रूप से बाधित हो गया है। इस पर अधिकारी ध्यान नहीं दे रहे हैं जिससे नाराज लोगों ने हंगामा कर रेलवे अंडर ब्रिज पु:ना चालू करने की मांग की है।

Popular posts
बुंदेलखंड जन अधिकार पार्टी ने जिलाध्यक्ष हनुमान प्रसाद दास राजपूत को विधानसभा बांदा सदर से प्रत्याशी किया घोषित,
चित्र
उत्तर प्रदेश फ्री स्मार्ट फोन और टैबलेट योजना 2021: इंतजार खत्म, योगी सरकार इसी माह से करेगी वितरण
चित्र
राजस्व वसूली एवं सरकारी कार्य में बाधा उत्पन्न करने वाले के विरुद्ध दर्ज हुई एफ आई आर
चित्र
दूल्हे के शराब पीने से दुल्हन ने तोड़ी शादी, कहा-शराबी के साथ पूरी ज़िंदगी नहीं गुजार सकती
चित्र
कान्हा गौशाला मलाका में प्रथम नेत्र चिकित्सा शिविर का हुआ आयोजन
चित्र