आखिरकार ब्लॉक सरसावा के अधिकारियों की आंखों में पट्टी कब तक बनी रहेगी

 आखिरकार ब्लॉक सरसावा के अधिकारियों की आंखों में पट्टी कब तक बनी रहेगी



लोगों के लिस्ट में नाम आने के बावजूद भी  उन्हें शौचालय प्राप्त नहीं हुआ है।


एक तरफ सरकार अपने अनेकों कार्य बता रही है और दूसरी तरफ एक ग्राम सभा बड़हरि में कितना बड़ा करप्शन किया गया है आप लोगों के सामने मैं बता रहा हूं


कौशांबी‌। केशव प्रसाद मौर्य उपमुख्यमंत्री का गृह जनपद के ब्लॉक सरसावा में अधिकारियों की आंखों में पट्टी बंधी हुई है। जनता को सरकारी लाभ नहीं पहुंच पाता जनता  शिकायत भी करती है तो अधिकारी उस पर कोई भी एक्शन नहीं लेते हैं ना तो कोई कार्रवाई करते हैं सिर्फ सहानुभूति दिलाते हैं ग्रामसभा बड़हरि मैं ना तो किसी व्यक्ति को पूर्ण रूप से शौचालय बना हुआ है और जिनके शौचालय बने हुए भी आधी अधूरी लोगों की एक किस्त आई उसके बाद दुबारा कोई किस्त नहीं आई है ना तो किसी महिला को आंगनवाड़ी की तरफ से तरमौरा गांव में आज तक लगभग 10 वा 15 वर्ष से कोई भी आंगनवाड़ी की तरफ से पोषाहार का न किसी महिला ना बच्चों को नहीं प्राप्त हुआ अस्पताल है जो कि 15 साल लगभग पुराना अस्पताल जनता द्वारा बताया जा रहा है परंतु इसकी कंडीशन आज 15 वर्ष से ऐसे ही पड़ी हुई है क्या इस पर किसी अधिकारी कि नजर नहीं पड़ी बताना चाहता हूं कि मैं कई बार इसे अवगत करा चुका हूं लेकिन इस पर कोई कार्रवाई नहीं हो पा रही है


मैं सभी अधिकारियों से विनती करता हूं कि अगर मेरी आवाज अधिकारियों तक पहुंच रही है तो इसे संज्ञान में लेकर के इस पर उचित कार्यवाही करें और जनता को सरकार का जो लाभ मिलना चाहिए वह लाभ प्राप्त हो 



या हमारे मान्यवर अधिकारियों को किसी का  दबाव कार्य करने में कोई दिक्कत परेशानी हो रही हो तो उसे माननीय जिलाधिकारी महोदय के संज्ञान में डालें


ग्रामसभा बड़हरि स्वच्छ भारत मिशन के तहत लोगों के नाम तो आए हैं लिस्ट में  परंतु आज तक ना  शौचालय मिला है और ना ही उन्हें पैसे पेपर में दिखा दिया गया है कि इन्हें पैसे भी दे दिए गए हैं उनका शौचालय भी कंप्लीट हैं सामुदायिक शौचालय भी आज तक आधा अधूरा पड़ा हुआ है क्या इसकी जांच नहीं होती है 


ग्रामसभा बड़हरि देवरी गांव में यह अस्पताल बना हुआ है महोदय मैं आपसे निवेदन करता हूं कि इस पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाए