स्वास्थ्य केंद्र स्कूल सहित गौशाला का जिलाधिकारी अनुराग पटेल द्वारा किया गया आकस्मिक निरीक्षण

 स्वास्थ्य केंद्र स्कूल सहित गौशाला का जिलाधिकारी अनुराग पटेल द्वारा किया गया आकस्मिक निरीक्षण



संवाददाता बाँदा। प्राथमिक विद्यालय क्योटरा जसपुरा के निरीक्षण के दौरान  कक्षा पांच के बच्चे नहीं सुना पाए 6 का पहाड़ा नहीं लिख पाए 69 की गिनती

जिलाधिकारी अनुराग पटेल ने नया प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पैलानी, पंचायत भवन, प्राथमिक विद्यालय क्योटरा ,ब्लाक जसपुरा तहसील पैलानी, बृहद गौ संरक्षण केन्द्र ग्राम सिंधन कला का आकस्मिक निरीक्षण किया।

निरीक्षण के दौरान प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पैलानी डाॅ. अमर सिंह एवं फार्मासिस्ट श्रीमती रमा देवी मौजूद थे। उपस्थित पंजिका का अवलोकन किया गया जिसमें एएनएम ममता चैरसिया 19 सितम्बर को स्वास्थ्य मेले में भी नही आयीं एवं 20 सितम्बर को अनुपस्थित रहीं। उन्होंने वेतन रोकने के निर्देश दिये साथ ही डाॅ0 अमर सिंह की डेस्क गंदी थी और नेम प्लेट नही थी एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में लाइट थी परन्तु पंखे पाये गये। ट्वायलेट में गन्दगी, प्रसव कक्ष में गन्दगी, भण्डार कक्ष में कबाड भरा पाया गया, बेडों में चादरें नही थी। वैक्सीनेशन के विषय में भी कोई जानकारी नही दे पाये। खडी एम्बूलेन्स में न मेडिसिन किट थी, ना ही आक्सीजन सिलेण्डर था, ना ही मास्क था। उपरोक्त डाॅक्टर के आवास में डाॅजेपीवर्मा का नाम लिखा था जो उनके द्वारा अभी तक नही बदलाया गया था। डाॅअमर सिंह एवं फार्मासिस्ट  रमा देवी के द्वारा 28 जून, 2021 के बाद स्टाक रजिस्टर में कोई दवाओं की इन्ट्री नही मिली तथा निर्गमन रजिस्टर (इसू रजिस्टर) किसे कहते इसकी जानकारी नही थी तथा इसके साथ ही साॅप काटने एवं कुत्तों के काटने सम्बन्धी दवायें नही उपलब्ध थी। उपरोक्त स्थिति को दृष्टिगत रखते हुए जिलाधिकारी के द्वारा डाॅ0 अमर सिंह एवं फार्मासिस्ट श्रीमती रमा देवी की स्पष्टीकरण काल करने के निर्देश दिये।

प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र परिसर में उप जिलाधिकारी पैलानी को साफ- सफाई कराने के निर्देश दिय आर कहा कि साफ-सफाई कराकर तत्काल मुझे अवगत कराया जाए। इसके बाद पंचायत भवन पैलानी का निरीक्षण किया। लेखपाल, सचिव, प्रधान तथा ए0एन0एम0 मौके पर कोई नही था और यह भी अवगत कराया गया कि ग्राम समाज की जमीन पर जेला पुत्र  मइयादीन ने कब्जा किया हुआ है। उन्होंने तत्काल उप जिलाधिकारी पैलानी को जांच करने के निर्देश दिये। इसके बाद प्राथमिक विद्यालय क्योटरा जसपुरा तहसील पैलानी का निरीक्षण किया जिसमें कक्षा पाॅच में 25 बच्चों में से 16 बच्चे उपस्थित थे, कक्षा चार में 40 बच्चों में से 22 बच्चे उपस्थित थे। जिलाधिकारी के द्वारा कक्षा पाॅच के छात्र अंकित से पूंछा  गया कि छः का पहाडा सुनाइए और कहा कि 69 कैसे लिखा जायेगा तो कोई भी बच्चा छः का पहाडा सुना पाया और ना ही 69 लिख पाया। साथ ही बच्चों ने ड्रेस नही पहना हुआ था और बच्चों के द्वारा मिड-डे-मिल में बताया गया कि दूध चम्मच से दिया जाता है जो कि यह बहुत खेद जनक है। कक्षा तीन एवं चार के बच्चों से देश के प्रधानमंत्री जी एवं प्रदेश के मुख्यमंत्री जी का नाम पूंछा गया तो वे नही बता पाये। साथ ही प्रधानाध्यापक विनीता गुप्ता के द्वारा बताया गया कि लगभग पन्द्रह सालों से विद्यालय परिसर में बबूल के पेड़ के नीचे खुले में मध्यान भोजन बनता है। इस स्थिति को देखकर जिलाधिकरी द्वारा नाराजगी व्यक्त की गयी और तत्काल बी0एस0ए0 से फोन पर वार्ता कर विद्यालयों की व्यवस्थाओं एवं पठन-पाठन में सुधार करने के निर्देश दिये एवं सम्बन्धित खण्ड शिक्षाधिकारी एवं बेसिक शिक्षाधिकारी का स्पष्टीकरण देने के निर्देश दिये।

जिलाधिकारी अनुराग पटेल ने सिंधन कला में शासन द्वारा 01 करोड़ 20 लाख की लागत से बन रही निर्माणाधीन बृहद गौ संरक्षण केन्द्र का निरीक्षण किया जिसमें ईट की क्वालिटी अव्वल दर्जे की नही थी और बाउन्ड्री वाॅल की लम्बाई 364 मी0 पूर्ण कर ली गयी थी और 194 मी0 अधूरी पडी हुई थी। उसमें तार की खिंचाई की जा रही थी जिसमें जिलाधिकारी के द्वारा पूंछा गया कि इतनी बाउन्ड्री वाॅल को तार से क्यों खींचा जा रहा हैं तो अधिशाषी अभियंता ग्रामीण अभियंत्रण विभाग के द्वारा बताया गया कि  इसके लिए अब पर्याप्त बजट नही है और इसकी लागत लगभग 02 लाख रूपये है, तो जिलाधिकारी के द्वारा कहा गया कि फंड जिला प्रशासन द्वारा दिया जायेगा इस्टीमेट बनाकर शीघ्र दिया जाए और कहा कि एक सप्ताह के अन्दर बाउन्ड्री वाॅल तैयार कर मुझे अवगत कराया जाए साथ ही विचरण कर रहे गौवंशों को शीघ्र गौशाला में संरक्षित किया जाए और अधूरे निर्माण कार्यों को एक माह में पूर्ण कर हैण्ड ओेवर किया जाए। गौशाला परिसर के अन्दर एक तालाब बना हुआ था उसमें डिसिलटिंग, मिट्टी डालने के कार्य हेतु डी0सी0 मनरेगा एवं खण्ड विकास अधिकारी फोन पर वार्ता की गयी कि मनरेगा से इसे ठीक कराया जाए।

इसके पश्चात जिलाधिकारी के द्वारा ‘‘द मिलियन फामर्स स्कूल’’ में दो दिवसीय किसान पाठशाला चल रही थी जिसमें अवगत कराया गया कि जनपद में 71 न्याय पंचायतों में दो दिवसीय किसान पाठशाला का आयोजन किया गया है जिसमें 4311 कृषकों द्वारा प्रतिभाग किया गया। 1287 महिला किसानों ने प्रतिभाग किया। उपस्थित किसानों को पराली/ फसल अवशेष प्रबन्धन विषय पर विस्तृत जानकारी दी गयी साथ ही फसल अवशेष को डी कम्पोज करके खेत में ही सडाकर जैविक खाद बनाने की तकनीक बतायी गयी।

खरीफ फसल प्रबन्धन में उर्वरक का प्रयोग एवं जल प्रबन्धन, खरीफ फसलों में लगने वालेे कीट रोग प्रबन्धन की भी जानकारी दी गयी। कृषि विभाग की विभिन्न महत्वपूर्ण योजनाओं एवं सुविधाओं के विषय में अवगत कराया गया। किसानों की आय दोगुनी करने हेतु उद्यान पशुपालन, मत्स्य आदि की योजनाओं के विषय में जिला कृषि अधिकारी एवं विषय विशेषज्ञ के द्वारा जानकारी दी गयी। विकास खण्ड जसपुरा के ग्राम पडेरी की किसान पाठशाला का जिलाधिकारी के द्वारा निरीक्षण किया गया एवं कृषकों को जिला कृषि अधिकारी डाॅ प्रमोद कुमार 9410660290 एवं प्रभारी राजकीय कृषि बीज भण्डार बीर बहादुुर सिंह का नम्बर 9415563828 किसानों को नोट करवाया गया और कहा कि यदि दोंनो के द्वारा फोन नही उठाया गया तो जिला प्रशासन को अवगत कराया जायेगा।

उपस्थित उप जिलाधिकारी पैलानी महेंद्र प्रताप, डिप्टी कलेक्टर सौरव यादव सहित संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।

Popular posts
बुंदेलखंड जन अधिकार पार्टी ने जिलाध्यक्ष हनुमान प्रसाद दास राजपूत को विधानसभा बांदा सदर से प्रत्याशी किया घोषित,
चित्र
उत्तर प्रदेश फ्री स्मार्ट फोन और टैबलेट योजना 2021: इंतजार खत्म, योगी सरकार इसी माह से करेगी वितरण
चित्र
सहारा इंडिया कार्यकर्ता पुलिस अधीक्षक से मिले, पैसा दिलाने की मांग
चित्र
जिंदा हूँ तो जी लेने दो, चलती राहों में भी पी लेने दो.....ड्यूटी में भी पी लेने दो।
चित्र
भाजपा महिला मोर्चा की तरफ से सदस्यता अभियान चलाकर की गई बैठक
चित्र