डीएम-एसपी ने सम्पूर्ण समाधान दिवस पर डेरापुर थाना में सुनी जन शिकायतें, दिये निर्देश

 डीएम-एसपी ने सम्पूर्ण समाधान दिवस पर डेरापुर थाना में सुनी जन शिकायतें, दिये निर्देश 



कानपुर देहात।शासन के निर्देश के क्रम में प्रत्येक माह के दूसरे व चौथे शनिवार को संपूर्ण थाना समाधान दिवस का आयोजन किया जाता है। इसी के तहत शनिवार को जिलाधिकारी जितेन्द्र प्रताप सिंह व पुलिस अधीक्षक केशव कुमार चौधरी की अध्यक्षता में डेरापुर थाना में सम्पूर्ण थाना समाधान दिवस का आयोजन किया गया। इस मौके पर उपस्थित लोगों की जन समस्याएं सुनी गयी।

वहीं जिलाधिकारी ने लेखपालों की अनुपस्थिति पर नाराजगी भी प्रकट की, वही एसडीएम डेरापुर ऋषि कांत राजवंशी को निर्देश देते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि थाना समाधान दिवस में जिनकी ड्यूटी लगायी जाये वह प्रत्येक दशा में समय पर उपस्थित रहकर लोगों की समस्याओं का समाधान करेंगे, इसमें किसी प्रकार की लापरवाही क्षम्य नही की जायेगी।  थाना समाधान दिवस के दौरान मनोज कुमार, गीता कटियार, सर्वेश कटियार, अशोक कुमार थाना समाधान दिवस में अनुपस्थित पाये गये, वही सिकंदरा तहसील क्षेत्र के अंतापुर गांव के एक वृद्ध ने आवास गिर जाने के बाद भी राजस्व टीम द्वारा निरीक्षण न करने एवं क्षतिपूर्ति न देने के मामले में शिकायत की, जिस पर जिलाधिकारी ने सिकंदरा एसडीएम रमेश चंद्र को लेखपाल द्वारा गांव न पहुंचने, समय पर सूचना न देने एवं थाना समाधान दिवस नदारद रहने आदि तीन बिंदुओं पर कार्यवाही करने के निर्देश दिए, जबकि डेरापुर एसडीएम को डेरापुर कानूनगो सुभाष चंद्र अनुपस्थित रहने एवं कार्य व्यवहार ठीक न होने के मामले में कार्रवाई के निर्देश दिए, इसी क्रम में गरीब कल्याण मेले के दौरान आयोजित कार्यक्रम में मत्स्य पट्टे के प्रमाण पत्र वितरण में देरी होने व प्रमाण पत्र में पट्टा समापन तिथि गलत दर्ज होने के मामले में भडावल के लेखपाल संतोष कुमार के खिलाफ जांच कर कार्रवाई के निर्देश दिए गये, वहीं जो पट्टे आवंटित हुए थे वह अक्टूबर 2020 में आवंटित होना दर्ज था, किंतु लाभार्थियों को समय पर पट्टा प्रमाण पत्र न दिए जाने का भी मामला प्रकाश में आया, जिस पर जिलाधिकारी ने उक्त सभी मामले में उप जिलाधिकारी से शाम तक कार्रवाई किये जाने की रिपोर्ट उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं। इस मौके पर अधिकारीगण व शिकायतकर्ता आदि उपस्थित रहे।