उत्तर प्रदेश के मदरसों में अब गणित, विज्ञान और नागरिक शास्त्र भी अनिवार्य, जानिए कब से लागू होगा नया पाठ्यक्रम

 उत्तर प्रदेश के मदरसों में अब गणित, विज्ञान और नागरिक शास्त्र भी अनिवार्य, जानिए कब से लागू होगा नया पाठ्यक्रम



न्यूज़।उत्तर प्रदेश मदरसा शिक्षा परिषद में अब इतिहास, नागरिक शास्त्र, प्रारंभिक गणित व प्रारंभिक विज्ञान की भी अनिवार्य पढ़ाई होगी। कक्षा एक से 12 तक की सभी कक्षाओं में इन विषयों को अनिवार्य कर दिया गया है। आगामी शैक्षिक सत्र से इसे लागू किया जाएगा। अभी तक उर्दू, हिंदी व अंग्रेजी ही अनिवार्य विषय होते थे। अब कुल सात विषय अनिवार्य होंगे। मदरसा बोर्ड सीबीएसई पाठ्यक्रम के अनुसार एनसीईआरटी की किताबों से इनकी पढ़ाई करवाएगा।नवगठित उत्तर प्रदेश मदरसा शिक्षा परिषद की मंगलवार को हुई पहली बैठक में कई महत्वपूर्ण प्रस्तावों पर मुहर लग गई।डा. इफ्तिखार अहमद जावेद की अध्यक्षता में हुई मदरसा बोर्ड की बैठक में तय किया गया कि तहतानिया (प्राइमरी), फौकानिया (जूनियर हाईस्कूल), मुंशी/मौलवी (हाईस्कूल) एवं आलिम (इंटरमीडिएट) में भारत का इतिहास, नागरिक शास्त्र, प्रारंभिक विज्ञान व प्रारंभिक गणित विषय अनिवार्य रूप से पढ़ाया जाए। अभी तक मदरसों में यह विषय वैकल्पिक थे। बैठक में कामिल (स्नातक) व फाजिल (परास्नातक) की परीक्षाएं 25 से 30 अक्टूबर के बीच आयोजित करने का निर्णय लिया गया। मदरसा बोर्ड के रजिस्ट्रार आरपी ङ्क्षसह ने बताया कि बोर्ड बैठक में तृतीय श्रेणी व चतुर्थ श्रेणी के रिक्त पदों पर कर्मचारियों की भर्ती आउटसोर्सिंग से करने का निर्णय लिया गया। तृतीय श्रेणी के पद नियमित नियुक्ति होने तक आउटसोर्स के माध्यम से भरे जाएंगे। इसके अलावा पासपोर्ट बनवाने के लिए डिग्री के सत्यापन का काम भी तेज गति से निस्तारित करने के निर्देश दिए गए।

Popular posts
रेवाड़ी कि रामलीला मे जीवंत मंचन ने मोहा मन
चित्र
20 घंटे बाद कुवे से निकाला जा सका युवक का शव
चित्र
दहेज न दे पाने पर फ़ोन से लड़के ने शादी तोड़ी,लड़की ने लगाई फांसी
चित्र
प्रेम प्रसंग के चलते युवक ने फांसी लगाकर की आत्महत्या पुलिस ने शव को पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा
चित्र
उत्तर प्रदेश में बकाएदार बिजली उपभोक्ताओं के लिए समाधान योजना आज से, सीएम योगी आद‍ित्‍यनाथ के न‍िर्देश पर कई र‍ियायतें
चित्र