विद्युत अभियंता संघ बाँदा के द्वारा अभियंता कार्यालय बाँदा मे एक घण्टे का किया कार्य बहिष्कार

 विद्युत अभियंता संघ बाँदा के द्वारा अभियंता कार्यालय बाँदा मे एक घण्टे का किया कार्य बहिष्कार



संवाददाता बाँदा :- प्रदेश की जनता को निर्बाध विद्युत आपूर्ति हेतु 24 घण्टे कार्य कर रहे अभियन्ता एक घण्टे का कार्य बहिष्कार करने हेतु हुए विवश  प्रबन्धन की हठधर्मिता के कारण अभियन्ताओं की ज्वलन्त समस्याओं का नहीं हो रहा है निराकरण आज सायं 04 बजे से 05 बजे मुख्य अभियंता कार्यालय बाँदा मे एक घण्टे का कार्य बहिष्कार कर की गयी विरोध सभा                   बिजली इंजीनियरों की समस्याओं के समाधान एवं ऊर्जा निगमों में टकराव टालने हेतु मा0 ऊर्जा मंत्री जी से हस्तक्षेप की अपील 


बिजली अभियन्ताओं की काफी समय से लम्बित ज्वलन्त समस्याओं के समाधान न होने एवं पावर कारपोरेशन प्रबन्धन द्वारा की जा रही उत्पीड़नात्मक कार्यवाहियों के विरोध में बिजली अभियंताओं के ध्यानाकर्षण एवं शान्तिपूर्ण आन्दोलन के क्रम में आज सायं 04 बजे से 05 बजे  एक घण्टे का कार्य बहिष्कार किया गया , मुख्य अभियंता कार्यालय बाँदा मे विरोध सभा की गयी। दिनांक 07 एवं 08 अक्टूबर को भी सायं 04 बजे से एक घण्टे का कार्य बहिष्कार कर विरोध सभा की जायेंगी। 

विद्युत अभियन्ता संघ के उपाध्यक्ष  रमाकांत वर्मा  ने कहा कि ऊर्जा निगम शीर्ष प्रबन्धन के अनियोजन एवं ससमय कोल कम्पनियों को पैसे के भुगतान न किये जाने के कारण उत्पादन निगम की कई विद्युत उत्पादन इकाईयों से विद्युत उत्पादन बन्द है एवं अन्य इकाईयां कम क्षमता पर चलाई जा रही हैं जो आने वाले 2-3 दिनों में पूरी तरह बन्द होने वाली है। इस प्रकार आने वाले कुछ दिनों में उत्पादन निगम, जो प्रदेश को सबसे सस्ती बिजली देता है, की सभी विद्युत उत्पादन इकाईयां ठप्प होने वाली हैं जो कि प्रबन्धन की विफलता का एक और उदाहरण है। वहीं वितरण क्षेत्रों में भी ओ0 एण्ड एम0 बजट विगत 02 वर्षों से शून्य किये जाने से विद्युत आपूर्ति पूरी तरह सुनिश्चित करने में काफी कठिनाईयों का सामना करना पड़ रहा है।  

अभियन्ता संघ के क्षेत्रीय सचिव  पीयूष द्विवेदी  ने बताया कि सभी बिजली अभियन्ता बेहतर उपभोक्ता सेवा प्रदान करने एवं राजस्व वसूली बढ़ाने, लाइन लॉस कम करके आत्मनिर्भर ऊर्जा निगम बनाने तथा मा0 मुख्यमंत्री के ‘सबको बिजली हरदम बिजली’ देने के संकल्प को मूर्त रूप देने में 24x7 जी-जान से जुटे हुए हैं परतु खेद का विषय है कि कारपोरेशन प्रबन्धन द्वारा वितरण क्षेत्रों एवं परियोजनाओं पर आवश्यक सामग्री एवं कोयला व मैन, मनी, मेटीरियल उपलब्ध न किये जाने से अभियन्ताओं को जहां एक ओर काफी कठिनाईयों का सामना करना पड़ रहा है वहीं दूसरी ओर उनकी लम्बित समस्याओं के समाधान न होने से एवं लगातार हो रही उत्पीड़नात्मक कार्यवाहियों से उनके मनोबल पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ रहा है जिससे सभी अभियन्ताओं में काफी रोष व्याप्त है। 

अभियन्ताओं को पदोन्नति से वंचित किये जाने के क्रम में पदोन्नति नियमों में रातों-रात प्रतिगामी परिवर्तन कर दिये गये हैं जिन्हें आजतक सार्वजनिक नहीं किया गया है। साथ ही विगत 01 वर्ष से अधिक समय से लम्बित समस्याओं के प्रति प्रबन्धन द्वारा उपेक्षात्मक रवैय्या अपनाते हुए समस्याओं का कोई ठोस निराकरण नहीं किया गया है। इन सबसे सभी बिजली अभियन्ता चिन्तित एवं आक्रोशित है तथा उनके मनोबल पर विपरीत प्रभाव पड़ रहा है जिससे उनकी कार्यक्षमता पर भी विपरीत प्रभाव पड़ रहा है।  

आन्दोलन के इस चरण में 7 अक्टूबर एवं 8 अक्टूबर को सायं 04 बजे से 05 बजे तक 01 घण्टे का कार्य बहिष्कार कर विरोध सभाये की जायेंगी। 11 अक्टूबर से दो घण्टे का कार्यबहिष्कार कर विरोध सभा की जायेंगी।


अभियन्ताओं की प्रमुख मांगे :- 1. सभी ऊर्जा निगमों का एकीकरण कर यूपीएसईबी लि0 का पुनर्गठन किया जाये 

2. पदोन्नति के नियमों में किये गये प्रतिगामी परिवर्तन वापस लिये जायें 3. सभी संसूचित अस्पतालों में कैशलेस मेडिकल की सुविधा दी जाये 4. उत्पादन निगम में 2008 ई0एण्डएम0 बैच व 2011 सिविल बैच की अतिशीघ्र पदोन्नतियां  की जायें 5. दिनांक 06 अक्टूबर 2020 को कैबिनेट उप समिति के साथ हुए समझौते के तहत वाराणसी व अन्य स्थानों पर आन्दोलन के कारण दर्ज एफ0आई0आर0 वापस ली जाये 6. वर्ष 2000 के बाद नियुक्त सभी अभियन्ताओं के लिए पुरानी पेंशन प्रणाली लागू की जाये 7. निदेशक के पदों पर आयु सीमा 60 वर्ष की जाय 8. पावर कारपोरेशन प्रबन्धन द्वारा की गयी समस्त उत्पीड़नात्मक कार्यवाहियां वापस ली जायें 9. ग्रेटर नोएडा के निजीकरण व आगरा के फ्रेंचाइजीकरण रद्द किये जायें 10. सहायक अभियंताओं का नियुक्ति ग्रेड पे 6600 किया जाय तथा तृतीय ए सी पी पर ग्रेड 11000 का वेतनमान देने सहित अन्य वेतन विसंगतियां दूर की जाए, 11. इंजीनियर प्रोटेक्शन एक्ट लागू किया जाए। 12. उत्पादन निगम में लम्बित उत्पादन प्रोत्साहन भत्ते का शीघ्र भुगतान किया जाये। 

अभियन्ता संघ ने अभियंताओं की लंबित ज्वलंत समस्याओं के निराकरण के लिए मा०ऊर्जा मंत्री जी और मा० मुख्यमंत्री जी से प्रभावी हस्तक्षेप करने की अपील की। 

सभा मे रमाकांत वर्मा, पीयूष द्विवेदी, रामचंद्र पटेल,जीतेन्द्र सिंह,  नवीन सिंह, भोलानाथ, अतुल कुमार, रवि गौतम, वैभव शुक्ला  आदि उपस्थित रहे

Popular posts
मूर्ति विसर्जन करने गए युवक की जमुना नदी में डूबकर हुई मौत पुलिस ने 21 घंटे बाद लाश की बरामद
चित्र
37 लोगों को लेकर जा रही ट्रैक्टर-ट्रॉली पलटी, 11 लोगों की मौत
चित्र
ऐतिहासिक होता है खजुहा की रामलीला व मेला
चित्र
रहीम की टोपी राम के सर, नही है किसी का डर
चित्र
बिन्दकी नगर के अम्बेडकर चौराहे पर रथ यात्रा के दौरान बीजेपी के जिम्मेदार पदाधिकारियों ने पुलिस से दिखाई गुंडागर्दी
चित्र