48 घंटे के अंदर पुलिस ने हत्या का किया खुलासा

 48 घंटे के अंदर पुलिस ने हत्या का किया खुलासा



 मृतक की पत्नी ने अपने प्रेमी के साथ रची थी साजिश 


घटना का खुलासा करने वाली टीम को पुलिस अधीक्षक ने दस हजार रुपये नगद पुरस्कार किया देने की घोषणा



फतेहपुर विगत तीन दिन पूर्व गाजीपुर कस्बा में लापता युवक का कुवे से सिर विहीन शव पुलिस ने बरामद किया था वही घटना का खुलासा करते हुए पुलिस ने मृतक की पत्नी व उसके दो साथियों को  गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल की है उधर पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार सिंह ने घटना का खुलासा करने वाली टीम को दस हजार रुपए नकद पुरस्कार देने की घोषणा की। बताते चलें कि पुलिस लाइन के सभागार में पत्रकारों से वार्ता करते हुए पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार सिंह हत्या का खुलासा करते हुए बताया कि 29 अक्टूबर की दोपहर कुवे से एक अज्ञात सिर विहीन शव बरामद किया गया था जबकि घटना से दो सौ मीटर की दूरी पर मृतक का खेत मे सिर बरामद हुआ था पुलिस अधीक्षक ने बताया कि 27 अक्टूबर को मृतक देवराज उर्फ झूरी की पत्नी फूलमती पुत्र रामपाल पासवान निवासी कस्बा गाजीपुर ने थाने में तहरीर दिया कि उसका पति नशे के हालत में कहीं चले गए और वापस घर नहीं आए जिस पर पुलिस ने गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कर अपनी तहकीकात शुरू कर दी वही पुलिस ने 48 घंटे के अंदर घटना का खुलासा करते हुए सोमवार की सुबह इंद्रो पुल के समीप से मृतक की पत्नी फूलमती पत्नी स्वर्गीय देवराज उर्फ झूरी पासवान राजेंद्र उर्फ सिंटू पुत्र जयपाल उमेश पासवान पुत्र श्यामलाल निवासी का कस्बा गाजीपुर को गिरफ्तार करने में पुलिस ने सफलता हासिल की है उन्होंने बताया कि गिरफ्त में आए आरोपियों से पूछताछ की गई तो उन्होंने अपना जुर्म कबूल करते हुए बताया कि मृतक की पत्नी फूलमती का राजेंद्र उर्फ सिंटू के साथ नाजायज संबंध था जिसके वजह से पति व पत्नी के बीच आए दिन झगड़ा होता था यही नहीं एक दिन मृतक की पत्नी ने अपने पति को रास्ते से हटाने के लिए अपने प्रेमी राजेंद्र उर्फ सिंटू पासवान व उमेश पासवान को मिलाते हुए उसकी हत्या कर दी और सिर धड़ से अलग कर धड़ को कुएं में डाल दिया तथा सिर को घटना से 200 मीटर की दूरी पर खेत में फेक दिया वही कड़ी पूछताछ के दौरान पुलिस ने आरोपियों की निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त संभल एक चापड़ व खून से सने कपड़े बरामद किया है पुलिस अधीक्षक ने बताया कि घटना का खुलासा करने वाली टीम में थानाध्यक्ष गाजीपुर नीरज यादव उप निरीक्षक देवेंद्र कुमार उप निरीक्षक दिनेश कुमार हेड कांस्टेबल रामयश पाल हेड कांस्टेबल सत्येंद्र कुमार कांस्टेबल कुंभकरण पटेल कांस्टेबल अनीश यादव कांस्टेबल चालक दिलीप कुमार व महिला कांस्टेबल कंचन यादव शामिल थे वहीं पुलिस अधीक्षक ने घटना का खुलासा करने वाली टीम को दस हजार रुपए नगद पुरस्कार देने की घोषणा की है वहीं पुलिस ने हत्या के आरोप में पत्नी व उसके दो साथियों के खिलाफ संगीन धाराओं में मुकदमा पंजीकृत करते हुए जेल भेज दिया।