राशन लेने गए कार्डधारक के साथ कोटेदार पुत्र ने की बदसलूकी

 राशन लेने गए कार्डधारक के साथ कोटेदार पुत्र ने की बदसलूकी




फतेहपुर। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जहां भारत देश में गरीब जनता के लिए प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्य योजना के तहत गरीब जनता को राशन की सुविधा मुहैया कराने का आदेश पारित किया था और देश के कोने कोने में उनके इस आदेश का पालन भी हो रहा है और गरीब जनता को सरकारी उचित दर की दुकान से यूनिट के आधार में गेहूं व चावल फ्री वितरण भी किया जा रहा है वही उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी उत्तर प्रदेश के समस्त जिला पूर्ति अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा था कि गांव गांव जाकर सरकारी उचित दर  की दुकान में कोटेदारों के ऊपर निगरानी करते हुए राशन वितरण का कार्य किया जाएगा परंतु देश के प्रधानमंत्री व उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के आदेश का पालन उत्तर प्रदेश के समस्त जनपद व कुछ हद तक फतेहपुर कि कुछ क्षेत्रों में होता हुआ नजर आ रहा हूं परंतु भिटौरा ब्लाक के मदरियापुर मजरे केवई मैं आवंटित दुकान संख्या 20420537 शिवरानी के सरकारी राशन की दुकान चलाने का अंदाज ही कुछ निराला है कार्ड धारकों से 1 दिन पहले अंगूठा लगवा लिया जाता है और फिर उसके बाद राशन के लिए उसे दौड़ाना शुरू किया जाता है वही मदरियापुर मजरे केवई निवासी कमला देवी   ने मानवाधिकार एवं उपभोक्ता फोरम ट्रस्ट नई दिल्ली  के मंडल सचिव को एक लिखित प्रार्थना पत्र देते हुए बताया कि राशन कार्ड संख्या217241062200है दिनांक 10 नवंबर को सुबह-8 बजे पर वह कोटेदार की दुकान पर गया जहां बायोमेट्रिक मशीन में 8:55 में उसका फिंगर लगाकर राशन रिलीजिंग का समय तथा दिनांक निकला और कोटेदार द्वारा अगले दिन राशन ले जाने की बात कही गई वहीं अगली सुबह होते ही पुनः आयुष पाल राशन लेने के लिए कोटेदार की दुकान पहुंचा वही आवंटित दुकान की लाइसेंस धारी शिवरानी ने उसे  बताया कि आज वह अपने खेतों पर गेहूं की फसल बोने जा रहे हैं जिस कारण से आज राशन  नहीं दिया जाएगा पुनः उसे अगले दिन आने की बात कही अगली सुबह होते ही जब आयुष राशन की दुकान पर पहुंचा तो लाइसेंस धारी शिवरानी का पुत्र श्रीकांत ने कार्डधारक से अभद्र भाषा में बात करते हुए उसे कोटे से भगा दिया तथा उसके साथ मारपीट भी कर डाली है जब कार्ड धारक ने अपने हक के राशन के लिए कोटेदार से कहा कि दो-तीन दिनों से बराबर आते हो गए और राशन अभी तक नहीं मिला इतना सुनते ही कोटेदार  का पुत्र और ज्यादा आग बबूला हो गया और उसे जान से मारने की धमकी भी दे डाली कि आज के बाद यदि कोटेदार पर तुम राशन लेने आए तो यहां से वापस नहीं जाओगे जिस प्रकार राशन वितरण करूंगा उसी प्रकार राशन लेना पड़ेगा।