प्रयागराज : चौफटका से कालिंदीपुरम तक बन रहे फ्लाईओवर का नाम सीडीएस विपिन रावत के नाम पर करने का प्रस्ताव

 प्रयागराज :  चौफटका से कालिंदीपुरम तक बन रहे फ्लाईओवर का नाम सीडीएस विपिन रावत के नाम पर करने का प्रस्ताव

न्यूज़।


प्रयागराज   चौफटका से कालिंदीपुरम तक बन रहे फ्लाईओवर का नाम सीडीएस विपिन रावत के नाम पर करने का प्रस्ताव प्रयागराज में चौफटका से कालिंदीपुरम तक बन रहे फ्लाईओवर का नाम देश के पहले चीफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) विपिन रावत के नाम पर करने का प्रस्ताव पास किया गया है। इसके साथ ही कालिंदीपुरम स्थित साठ फीट रोड का नाम अब शहीद मेजर विजित सिंह मार्ग मौर्य हो गया है। कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने मंगलवार को आयोजित कार्यक्रम में पटिका का लोकार्पण किया। इस दौरान महापौर अभिलाषा गुप्ता नंदी भी मौजूद रहीं। नेताओं तथा वहां मौजूद अन्य लोगों ने शहीदों को श्रद्धांजलि भी अर्पित की।


मंत्री ने कहा कि 2006 में ही नगर निगम ने इस सड़क का नाम शहीद मेजर विजित सिंह मार्ग करने का प्रस्ताव पारित किया गया था लेकिन लोगों ने शिलापट्ट नहीं लगने दिया। अब इस सड़क की मरम्मत के साथ नामकरण भी शहीद के नाम पर कर दिया गया है। मंत्री ने बताया कि चौपटका से कालिंदीपुरम तक बन रहे फ्लाईओवर का नामकरण देश के पहले सीडीएस जनरल बिपिन रावत के नाम पर होगा। इसका प्रस्ताव तैयार किया गया है।क्रम में उन्होंने कालिंदीपुरम से आगे चौराहे का नामकरण पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री के नाम पर किए जाने की मांग की। सिद्धार्थनाथ कालिंदीपुरम में आयोजित सामूहिक विवाह कार्यक्रम में भी शामिल हुए और नवविवाहित जोड़ों को आशीर्वाद दिया। इसमें 137 जोड़ों की शादी हुई। मंत्री ने केंद्र और प्रदेश सरकार की योजनाओं एवं उपलब्धियों की भी जानकारी दी। इस मौके पर ब्लॉक प्रमुख मालती देवी, पार्षद अखिलेश सिंह, मिथलेश सिंह आदि मौजूद रहे।

Popular posts
सदर कोतवाली के अंतर्गत राधा नगर चौकी क्षेत्र में "सीमा क्लीनिक" नाम का अदौली रोड में डॉक्टर ने गर्भपात करने की खोल रखी है मौत की दुकान
चित्र
पत्रकार की बाइक का बदौसा थानाध्यक्ष ने किया चालान पत्रकार ने पुलिस अधीक्षक को दिया लिखित शिकायत पत्र
चित्र
नगर पालिका बांदा की घोर लापरवाही आई सामने,
चित्र
लेखपाल की लापरवाही के चलते दबंग पूर्व ग्राम प्रधान ने अपने कार्यकाल में तालाब पर अवैध रूप से कब्जा कर बनवाया अपना मकान,प्रशासन दबंग प्रधान के सामने है मौन
चित्र
डायल 112 पीआरबी कर्मियों के द्वारा जंगल में हाथ पैर बांध कर फेंके गए युवक को बंधन से कराया मुक्त
चित्र