आजादी के अमृत महोत्सव के अन्तर्गत महिला सशक्तीकरण , एवं साइबर अपराध कार्यक्रम का हुआ आयोजन

 आजादी के अमृत महोत्सव के अन्तर्गत महिला सशक्तीकरण , एवं साइबर अपराध कार्यक्रम का हुआ आयोजन




संवाददाता बाँदा - कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा संचालित जन

शिक्षण संस्थान बाँदा द्वारा आजादी के अमृत महोत्सव के अन्तर्गत महिला सशक्तीकरण , एवं साइबर

अपराध कार्यक्रम का आयोजन- बंगालीपुरा में जन शिक्षण संस्थान के प्रशिक्षण केन्द्र में आयोजित किया

गया जिसमें संस्थान के अधिकारी एवं सोशल वर्कर शबीना मुमताज, मुमताज बेगम तथा जागृति सेवा संस्थान के अध्यक्ष  जावेद हाशमी जी उपस्थित रहे। श्रीमती शबीना मुमताज वनांगना संस्थान की कार्यकर्ता ने महिला सशक्तीकरण पर बताया कि हमें सभी महिलाओं का सपोर्ट करना है। महिलाओं कम ग्रुप बनाकर ऐसे काम करें जैसे शादी करवाना, खोई हुई लड़कियों का पता लगाने में सपोर्ट करें। विधवा लड़कियों की समस्याओं पर काम करें। महिलाओं में हिन्दू.

-मुस्लिम, जाति भेदभाव न करें। हम सशक्त बनें।

समाजसेवी श्रीमती मुमताज बेगम ने महिला सशक्तीकरण बोलते हुए कहा- तू खुद को बदल तभी तो जमाना बदलेगा ।तू चुप रह कर जो सहती रही तो क्या ये जमाना बदलेगा। तू बोलेगी मुंह खोलेगी ,तभी तो जमाना बदलेगा। इससे शुरूवात करते हुए महिलाओं को और अपराध सहने के वजाय उनका खुलकर मुकाबला करें तभी महिलाओं सशक्त बनेगी। आनलाइन धोखाधड़ी के शिकार लोगों को साइबर सेल में शिकायत करनी चाहिए।  सौम्य खरे कार्यक्रम अधिकारी जन शिक्षण संस्थान बाँदा ने अपने वक्तव्य की शुरूआत यत्र नार्यस्तु पूज्यन्ते रमन्ते तत्र देवता अर्थात अँहा नारियों की पूजा होती है वहा देवता निवास करते हैं, श्लोक से की। इस कोरोना काल से जैसे जैसे डिजिटल हो रहे है तो इसके साथ एक नई समस्या डिजिटल अपराध के

रूप में सामने आ रही है।आजकल लॉटरी लगने एवं 25लाख का इनाम जीतने का मैसेज व कॉल व्हाट्सअप आ रहे है जिसमे हमे कुछ रजिस्ट्रेशन मनी जमा करने के लिए कहा जाता है तथा बाद में वो नम्बर बन्द हो जाता है इन्टरनेट द्वारा जारी नम्बरों का कोई आसतित्व नही होता। ऐसे मैसेज में गोपनीय जानकारी न दें न ही किसी तरह का लेन देन करे साइबर ठगी से बचने के लिए अपने ATM कार्ड का नम्बर CVVनम्बर किसी को न बताये | ATM कार्ड में मशीन का इस्तेमाल करते समय किसी अनजान व्यक्ति कि गूगल में आनलाइन दिखाई देने वाला संम्पर्क नम्बर पर आने वाले अनचाहे लिंक को क्लीक न करेडिवा जागरूकता कि कमी एवं साइबर अपराध का मुख्य कारण साइबर अपराध का मुख्य कारण डिजिटल जागरूकता कि कमी एवं साइवर काइम से सम्बन्धित शिकायत प्रणाली का अभाव है। भारत में

साइवर अपराध को रोकने को और उससे सुरक्षित होना बहुत कठिन कार्य है चूंकि भारत में आधारभूत

संरचना का अभाव है। परन्तु भारत सरकार साइवर अपराध को दूर करने के लिए प्रयास कर रही है।

जागृति सेवा संस्थान के जावेद हाशमी ने अपनी समाज में पर्दा प्रथा पर बालते हुए कहा कि इस प्रथा

के कारण हमारा विकास अवरूह है कुरान शरीफ में कहा गया कि शिक्षा के लिये हमे दूर भी जाना पड़ता

उन बाधाओ को दूर कर शिक्षा ग्रहण करना है एक वक्त खाना कम खाये पर बच्चों को शिक्षित करें उन्हें

आगे बढाये समाज में 10 - 12 महिलाये मिलकर समूह बनाये बचत जमा करे अच्छी आदत बनाये आपका पैसा आपके खाते मे रहेगा उससे आपका विकास होगा। मीटिंग करेगी तो एक दूसरे से मिलेगी तो विकास का रास्ता खुलेगी संजय पाण्डेय- कार्यक्रम अधिकारी जन शिक्षण संस्थान बाँदा ने संस्थान कि योजनाओ को बताते हुए SHG पर जानकारी दी और कितने कार्य हो रहे इस पर विधिवत जानकारी दी सब को JSS से जुडकर विकास करने कि बात कही। श्रीमती अतीका बेगम- जन शिक्षण संस्थान कि अनुदेशिका ने जन शिक्षण संस्थान द्वारा आजादी अमृत महोत्सव के अन्तर्गत जो कार्य किये जा रहे है वो सराहनीय है। हम सब JSS के साथ काम करेगें यहाँ पर आये सभी लोगो को धन्यवाद देती हुँ। इस कार्यक्रम में अनुदेशिका निदा एवं प्रशिक्षण भी उपस्थित रहे।

Popular posts
सदर कोतवाली के अंतर्गत राधा नगर चौकी क्षेत्र में "सीमा क्लीनिक" नाम का अदौली रोड में डॉक्टर ने गर्भपात करने की खोल रखी है मौत की दुकान
चित्र
घर में घुसकर युवती की गला रेतकर निर्मम हत्या
चित्र
अवैध सीमा क्लीनिक में भ्रूण हत्या का धंधा जोरों पर जारी
चित्र
रफ्तार का कहर, महिला को ट्रक ने रौंदा घटनास्थल पर महिला की हुई मौत,
चित्र
वर्तमान ग्राम प्रधान ने पूर्व ग्राम प्रधान पर ग्राम प्रधान ग्राम समाज की जमीन पर अवैध कब्जा करने का लगाया आरोप
चित्र