फर्जी मेडिकल स्टोर की आड़ में जिस्मफरोशी के गोरखधंधे को दिया जा रहा था अंजाम

 फर्जी मेडिकल स्टोर की आड़ में जिस्मफरोशी के गोरखधंधे को दिया जा रहा था अंजाम



खबर प्रमुखता से प्रकाशित होने पर सीओ सिटी ने इंटेलिजेंट डिपार्टमेंट को सौंपी जाए


इंटेलिजेंट डिपार्टमेंट की जांच करने में फर्जी मेडिकल स्टोर तथा झोलाछाप डॉक्टर के घर पर मिला ताला


फतेहपुर।जनपद के मलवा थाना क्षेत्र के अंतर्गत कोराई गांव निवासी अशोक कुमार मौर्या पुत्र अज्ञात ने जखनी मोड़ स्थित अपनी एक फर्जी मेडिकल स्टोर का संचालन कर रखा वही स्वयं मकान स्वामी होने के नाते अपने मेडिकल स्टोर में विश्व सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार देखने को तो मेडिकल स्टोर चलाते हैं परंतु मेडिकल स्टोर के आड़ में जिस्मफरोशी के गोरखधंधे को अंजाम दिया जा रहा है जानकारों की माने तो यह जिस्मफरोशी का गोरखधंधा पिछले लंबे समय से चला आ रहा है कई बार ग्रामीणों ने इस कार्य का विरोध भी किया परंतु जिस्मफरोशी के गोरखधंधे का संचालन करने वाले झोलाछाप डॉक्टर मौर्य ने अपना इतना बड़ा जाल बिछा रखा था कि आम जनता की तो मानो उनके सामने सुनी ही नहीं जाती थी क्योंकि इस तरीके के घिनौने कार्य करने वालों के संपर्क वैसे भी राजनैतिक दल व पुलिस प्रशासन का आशीर्वाद प्राप्त किए बगैर ऐसा घिनौने कार्य को अंजाम नहीं दिया जा सकता है वही विश्वस्त सूत्रों से यह भी जानकारी मिली कि यह कार्य पिछले काफी समय तक कांधी गांव में भी मेडिकल स्टोर की आड़ में किया जाता था परंतु कांधी गांव के ही एक लड़की के साथ बदसलूकी करने पर झोलाछाप डॉ मौर्या को कांधी गांव के लोगों ने अपने गांव से भगा दिया था उसके बाद उसने जखनी मोड़ पर आकर अपना यह जाल बिछाया और गैर जनपदों से जिस्मफरोशी के गोरखधंधे में सम्मिलित लड़कियों को बुलाकर मेडिकल स्टोर में रंगरलिया मनाने वालों को बुलाकर पहले लड़कियां दिखाई जाती थी और फिर उनकी बोली लगाई जाती थी फिर रकम अदा होने के बाद मेडिकल स्टोर के अंदर बने गुप्त दरवाजे के पीछे कमरे में लड़कियों का चीर हरण किया जाता था कहीं ना कहीं इन मामले में पैसों से मजबूर व हालातों की मारी हुई लड़कियों को बुलाकर उनके साथ उनके जिस्म का सौदा करने का काम यह झोलाछाप डॉक्टर करता था वहीं ग्रामीणों की सूचना पर पहुंचे मीडिया कर्मियों ने जब मौके में जाकर देखा तो वहां का नजारा कुछ और ही था जिस्मफरोशी का गोरखधंधा करने वाला झोलाछाप डॉक्टर बाहर मेडिकल स्टोर में बैठकर रखवाली कर रहा था और अंदर रंगरलिया मनाने वाले चीरहरण पर उतारू थे ऐसी हरकत उनकी हाला की कैमरे में कैद होते ही मेडिकल स्टोर संचालक मौके से फरार हो गया वहीं खबर को प्रमुखता से दिखाने पर क्षेत्राधिकारी सदर ने इंटेलिजेंस डिपार्टमेंट को इस मामले की जांच सौंपी है और इंटेलिजेंट डिपार्टमेंट के द्वारा मेडिकल स्टोर पर छापा मारने तथा झोलाछाप डॉक्टर के घर जाने पर दोनों जगहों पर ताला लगा हुआ मिला जिस्मफरोशी का गोरख धंधा करने वाला संचालक मौके से फरार हो गया हालांकि ऐसे लोग कब तक फरार रहेंगे क्योंकि कानून के हाथ बहुत ही लंबे होते हैं और ऐसे घिनौने कार्य करने वालों को उत्तर प्रदेश की योगी सरकार कतई बक्शे कि नहीं उन्हें पकड़कर जेल की सलाखों के पीछे भेजना ही पड़ेगा तब जाकर आने वाले नश्लो में चीरहरण के गोरखधंधे में पूरी तरह से विराम लग सकता है अन्यथा यूं ही लड़कियों की लगती रहेगी बोली और होता रहेगा चीरहरण और देखती रहेगी जनता।