3 दिन से लगातार हो रही बारिश ने किसानों की बढ़ाई चिंता खेत हुए जलमग्न

 3 दिन से लगातार हो रही बारिश ने किसानों की बढ़ाई चिंता खेत हुए जलमग्न



संवाददाता बाँदा - जनपद में लगातार हो रही थी इन दिनों से बारिश ने किसानों की चिंता बढ़ा दी है किसानों को लग रहा था इस साल अच्छी फसल होगी लेकिन बीती रात हुई बारिश ने किसानों की चिंता बढ़ा दी है आपको बता दें कि  तीन दिन से हो रही लगातार बारिश के बीच शनिवार की रात गर्जना के साथ हुई तेज झमाझम/मूसलाधार बारिश से आषाढ़ मास जैसे हालात बन गए हैं। किसानों के गेंहू, मटर, सरसों, मसूर, अरहर, प्याज़ और सब्जियों के खेतों में पानी भर जाने से फसलें बर्बाद होने लगी हैं। फसलों के फूल गिर गए हैं। अरहर की फसलें हवा के कारण नीचे गिर गई हैं। इसका भयानक असर अगले एक सप्ताह बाद दिखाई देगा।  फसलों में पानी भरे होने से जड़े सड़ जायेगी। केवल गेंहू के खेतों में भरे पानी को अगर निकाल दिया जाय तो कुछ बचाया जा सकता है, लेकिन हर खेत में पानी भरे होने से वह भी संभव नही है। 

           कृषि के जानकार किसान धनराज सिंह, रामगोपाल प्रजापति, राजेन्द्र तिवारी के मुताबिक इस बारिश से 90 से 95 प्रतिशत फसलें बर्बाद हो जायेगीं। यह असर भी एक सप्ताह बाद साफ नजर आएगा। जैसे ही फ़सलों की जड़े सड़ेगीं वह पिला पड़ने के साथ जमीन में गिर जायेगीं। इस बार फसलें अच्छी थी, लेकिन इस बारिश ने सब बर्बाद कर दिया।