हॉस्टल में घुसकर पुलिस ने छात्रों को पीटा, सपा बोली- युवा पलट देंगे भाजपा सरकार

 हॉस्टल में घुसकर पुलिस ने छात्रों को पीटा, सपा बोली- युवा पलट देंगे भाजपा सरकार

 



प्रयागराज। रेलवे भर्ती बोर्ड की नॉन टेक्निकल पॉपुलर कैटेगरी परीक्षा के रिजल्ट को लेकर बिहार से लेकर उत्तर प्रदेश तक छात्रों का विरोध प्रदर्शन जारी है। इस दौरान कई जगहों पर छात्रों के उग्र होने की भी खबर है। इस बीच प्रयाग स्टेशन पर भी छात्रों ने कल प्रदर्शन किया और रेलवे ट्रैक पर ही डेरा डाल। इन प्रदर्शनकारी छात्रों को वहां से हटाने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज तक करना पड़ा। 


इस बीच प्रयागराज में प्रदर्शनकारी छात्रों पर पुलिसिया कार्रवाई के कुछ वीडियो सामने आए हैं, जिसमें पुलिसकर्मी हॉस्टल में घुसकर प्रदर्शनकारी छात्रों को पीटते दिख रहे हैं। वीडियो में कोई पुलिसकर्मी बंदूक की बट से दरवाजा तोड़ने की कोशिश करता दिख रहा तो कोई लातों से दरवाजा तोड़ता दिख रहा है। 

वहीं एक अन्य वीडियो में पुलिसकर्मी छात्रों को बारी-बारी से उनके कमरे से निकाल रहे हैं और डंडों से पीटकर नीचे भेजते दिख रहे हैं. पुलिस का कहना है कि वे हर उपद्रवी को ढूंढ रहे हैं, जिसने शहर में अराजकता फैलाने का प्रयास किया। 


यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद विपक्षी नेताओं ने भी अपने हमले तेज़ कर दिए. समाजवादी पार्टी और प्रियंका गांधी ने इस घटना पर ट्वीट कर कहा कि छात्रों के खिलाफ इस बर्बर अत्याचार को तुरंत रोका जाना चाहिए। 


विपक्षियों ने बोला बीजेपी पर हमला


समाजवादी पार्टी ने ट्वीट कर लिखा, ‘प्रयागराज में एनटीपीसी के रिजल्ट को लेकर प्रदर्शन कर रहे छात्रों को हटाने के लिए पुलिस द्वारा छोटा बघाड़ा लॉज में घुसकर निर्दोष विद्यार्थियों पर बर्बर लाठीचार्ज घोर निंदनीय! हर कदम पर दमन करने वाली भाजपा सरकार को युवा पलट देंगे इस बार. युवाओं का इंकलाब होगा 22 में बदलाव होगा.’


वहीं प्रियंका गांधी ने इस घटना पर ट्वीट कर लिखा कि ‘गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर अपने हक की बात कह रहे छात्र-छात्राओं के साथ डबल इंजन सरकार की पुलिस का व्यवहार देखिए. युवाओं के दमन के खिलाफ देश भर में इंकलाब होगा और भाजपा का अहंकार चूर-चूर होगा. युवा रोजगार का हक लेकर रहेंगे.’


इसके अलावा आरएलडी ने भी इस घटना पर बीजेपी सरकार को घेरा है. आरएलडी ने ट्वीट किया, ‘प्रयागराज में एनटीपीसी के रिजल्ट को लेकर प्रदर्शन कर रहे छात्रों के खिलाफ पुलिस कार्यवाही अत्यंत निंदनीय है. देश के भविष्य निर्माताओं के खिलाफ ऐसा बर्बरतापूर्ण रवैया सरकार की दमनकारी नीतियों को दर्शाता है. युवा अपने इस अपमान का बदला जरूर लेगा, 2022 में अब बदलाव होगा.


 *क्यों प्रदर्शन कर रहे हैं छात्र?


उत्तर प्रदेश से लेकर बिहार तक के छात्र आरआरबी में एनटीपीसी यानी नॉन टेक्निकल पॉपुलर कैटेगरी भर्ती (RRB-NTPC) के परिणाम में कथित गड़बड़ी को लेकर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. छात्रों का आरोप है कि बोर्ड की तरफ से ऐन वक्त पर नियम बदल दिए गए, जिस कारण परिणाम आने के बाद सिर्फ पांच फीसद छात्रों को ही नौकरी पर लिया गया. छात्रों के मुताबिक असल में ये आंकड़ा 20 फीसदी होना चाहिए था. इस वजह से नाराज छात्रों ने कई जगहों पर प्रदर्शन किया और जगह-जगह ट्रेनों की आवाजाही को घंटे बाधित रखा।

Popular posts
प्रेम प्रसंग के चलते हुई हत्या परिजनों ने जताई आसंका
चित्र
आकांक्षा साहू का इलाहाबाद उच्च न्यायालय अपर समीक्षा अधिकारी ए.आर.ओ. के पद पर हुआ चयन
चित्र
राजस्थान प्रदेश के जनपद जालौर में मासूम दलित छात्र की हत्या के संबंध में भीम आर्मी मंडल अध्यक्ष ने जिलाधिकारी के माध्यम से राष्ट्रपति को ज्ञापन
चित्र
मुख्य विकास अधिकारी की अध्यक्षता में जन सुविधा केंद्र के संचालन हेतु मुद्रा लोन दिए जाने के संबंध में उचित दर विक्रेताओं के साथ बैठक संपन्न
चित्र
बेखौफ बदमाशों ने ई-कार्ड कोरियर आफिस में तमंचे के बल पर लूटे 18 लाख 81 हजार
चित्र