खागा क्षेत्र में फ्रॉड कंपनियों का जाल

 खागा  क्षेत्र में फ्रॉड कंपनियों का जाल



फस रहे भोले-भाले ग्रामीण

छोटी-छोटी रकम फसाकर दिया जा रहा सिल्वर तथा गोल्ड विनर पर इनाम


न्यूज़।


विदेशी टूर लग्जरी गाड़ियां के लालच में फस रहे ग्रामीण

जीवन स्तर को उठाने के लिए बताए जा रहे गुरु मंत्र

घर के लिए सालाना ₹ 1लाख तक का दिया जाएगा फंड साथ ही घरेलू सामग्री मंजन साबुन से लेकर घर की सारी उपयोगी वस्तुओं को खरीदने पर मिलेगा बोनस जोड़िए  अपने से नीचे कई और बनिए करोड़पति यही सपने भोले-भाले ग्रामीणों को अपने जीवन भर की कमाई की पूंजी गवाने के लिए कर रहे मजबूर एक दो लोग क्षेत्र के जोड़ दिए जाते हैं जो अपने ही क्षेत्र के लोगों को इस प्रकार के प्रलोभन  में फंसाने का कुचक्र रचते रहते हैं और अंततोगत्वा  होता यह है कि वह कंपनी भाग जाती है और क्षेत्रीय लोगों के पास लोग जाते हैं बहुत से लोग तो जाते भी नहीं हैं क्योंकि उनको समाज का डर है कि लोग हमारी मूर्खता पर हसेंगे हरदों गांव की एक महिला ने इन्हीं कंपनियों पर अपना पैसा फंसा दिया और जब उसके घरवालों को जानकारी हुई तब तक कंपनी रफूचक्कर हो चुकी थी लेकिन किसी ने आज तक एफ आई आर दर्ज नहीं कराई बहुत से लोग इस क्षेत्र में एजेंट के रूप में कार्य कर रहे थे जो दाल चावल भी बांट रहे थे बसों में फ्री टिकट का प्रलोभन भी दिया जा रहा था लेकिन एजेंट आजकल अपने घरों में छुपे हुए हैं और लोग एक दूसरे से पूछते हैं आखिर वो कंपनियां कहां चली गई चुनावी समय में इन कंपनियों ने अच्छे पढ़े लिखे लोगों को भी बेवकूफ बनाना शुरू कर दिया है जो यह कहते फिर रहे हैं कि हम फलाने कंपनी से हैं हमारा प्रोडक्ट लीजिए और अपना जीवन स्तर सुधारने 3 साल में आपको ₹5 लाख का लाभ प्राप्त अवश्य होगा लेकिन प्रॉफिट कितना होगा यह तो आने वाला कल ही बताएगा इन कंपनियों से आम जनमानस को सतर्क रहने की जरूरत है क्योंकि कंपनियां अपना प्रोडक्ट बेचने के लिए अपनी बात मनवाने के लिए तरह-तरह के प्रलोभन देती हैं और कहा जाता है यदि आपके पास पैसा होगा तो आप रिश्तेदारों पड़ोसियों अपने गांव वालों की मदद भी करेंगे इस प्रकार से नैतिकता का पाठ पढ़ा कर यह कंपनियां भोले-भाले ग्रामीणों को छोटी पूंजी वाले लोगों को लूट कर स्वयं मालामाल हो जाती हैं और फिर रफूचक्कर जरूर हो जाती हैं खागा में हनुमान मंदिर के पास नमस्ते रोड में भी एक कंपनी ने अपना बड़ा बोर्ड लगा रखा था और काफी लोगों का पैसा उस में फंसा रखा था और रात में 1 दिन ही कंपनी भाग जाती है आखिर हमारा समाज हमारा कानून इन लोगों की वास्तविकता क्यों नहीं जान पाता और हम इनके जाल में फस जाते हैं आपको सावधान रहने की जरूरत है और अपने पड़ोसियों को सावधान करने की भी जरूरत है आखिर पुलिस इस प्रकार के नए-नए ऑफिसों की जानकारी क्यों नहीं लेती है अगर क्षेत्र में कोई कंपनी बिजनेस करने के लिए आती है तो उनकी इंफॉर्मेशन भी होनी चाहिए और यदि नहीं होती तो इसी प्रकार से जनता ठगी जाती रहेगी।