यूपी बोर्ड परीक्षा में नकल कराने वालों पर लगेगा रासुका, एसटीएफ भी रहेगी सक्रिय

 यूपी बोर्ड परीक्षा में नकल कराने वालों पर लगेगा रासुका, एसटीएफ भी रहेगी सक्रिय



न्यूज़। उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद की वर्ष 2022 की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट परीक्षा 24 मार्च से शुरू होगी। परीक्षा 12 अप्रैल तक चलेगी। नकल विहीन बोर्ड परीक्षा कराने के लिए इस बार सभी केंद्रों पर स्पेशल टास्क फोर्स और पुलिस का कड़ा पहरा होगा। परीक्षा में संगठित रूप से नकल कराने वालों के विरुद्ध राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका) के तहत कार्रवाई होगी। इंटरनेट मीडिया पर अफवाह फैलाने वालों पर भी कड़ी निगाह होगी।मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र ने यूपी बोर्ड परीक्षा की सुरक्षा-व्यवस्था के लिए कड़े निर्देश दिये हैं। सभी परीक्षा केंद्रों में सीसीटीवी कैमरों के जरिए निगरानी होगी। मुख्य सचिव ने मंगलवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये सभी मंडलायुक्तों, पुलिस आयुक्तों, डीएम, एसएसपी व एसपी को उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद द्वारा आयोजित बोर्ड परीक्षा को सकुशल संपन्न कराने के लिए विस्तृत निर्देश दिये।उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन प्रश्न पत्रों की सुरक्षा के लिए आवश्यक पुलिस प्रबंध करे और जिला मुख्यालय में पुलिस अभिरक्षा में रखवाया जाए। परीक्षा केंद्रों पर प्रश्न पत्रों का वितरण डीएम द्वारा नामित अधिकारी की निगरानी में हो। जिला विद्यालय निरीक्षक प्रश्न पत्रों का वितरण पुलिस की मौजूदगी में कराएं। डीएम यह भी सुनिश्चित करें कि सभी केंद्रों पर परीक्षा की अवधि में पर्याप्त सशस्त्र पुलिस बल मौजूद रहे।