सात दिवसीय भागवत कथा के माध्यम से गुरु पुत्र, आतंकवाद , ब्राम्हणत्व पर समाज को संदेश

 सात दिवसीय भागवत कथा के माध्यम से गुरु पुत्र, आतंकवाद , ब्राम्हणत्व  पर समाज को संदेश



चौडगरा (फतेहपुर)। जनपद के मलवाँ विकास खण्ड के शिवराजपुर रसिक बिहारी मंदिर में सात दिवसीय भागवत कथा के माध्यम से समाज को संदेश देते हुए   व्यास पीठ के माध्यम से पं हरि शंकर दिक्षित नें बताया कि इर्ष्या से जलन पैदा होती है! जो व्यक्ति को विकास पथ से भटका देता है। कौरव - पांडव  युद्ध के माध्यम से आतंकवाद पर तंज कसते हुए राष्ट्र प्रथम का दिया संदेश! गुरु के समान गुरु पुत्र होता है चाहे निपुणता जैसी हो

ब्राह्मणत्व  पर समाज को बताया कि तिलक, कुमकुम, विहीन मस्तक सर, शिर कटी चोटी,किसी कटे हुए धण के समान होता है आजकल चोटी  ना रखने का एक फैशन का दौर चल पड़ा है हमें अपने संस्कारों को अपनाते हुए पुनर्जीवित करना है मंद पड़ी धर्म की जड़ों को अभिसिंचित करना है। 

इस अवसर पर ग्राम प्रधान, प्रतिनिधि सूर्यपाल यादव, प्रेम नरायण, शद्धन मिश्रा, शंकर सेठ, निरंजन गुप्ता, रज्जू भैय्या सहित सैकड़ों की संख्या में महिला युवक युक्तियां भक्तगण रहे मौजूद।

टिप्पणियाँ
Popular posts
विकास को 7 बार किस सांप ने काटा? सामने आई सच्चाई, अफसरों ने सुलझाई सच और झूठ की पहेली
चित्र
सर्प ने सात बार काटा सपने में सांप बोला नौंवी बार साथ ले जाएंगे कोई तंत्र मंत्र नही बचा पायेगा
चित्र
छात्र शौर्य द्विवेदी ने कबाड़ी से बनाई इलेक्ट्रिक बाइक
चित्र
विप्लवी ने असिस्टेंट कमिश्नर बन कर जनपद का नाम किया रोशन
चित्र
असोथर के 45 शिक्षकों ने संकुल पद से दिया इस्तीफा, धरना प्रदर्शन करके सरकार विरोधी लगाए नारे
चित्र