नमक व्यापारी हत्याकांड का पुलिस ने किया खुलासा

 नमक व्यापारी हत्याकांड का पुलिस ने किया खुलासा



16000 की सुपारी देकर बेटे ने कराई थी पिता की हत्या


पैसे के लेनदेन को लेकर पिता पुत्र में होते थे अक्सर झगड़े


बिंदकी( फतेहपुर)। पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार सिंह के दिशा निर्देशन व अपर पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार के मार्गदर्शन में अपराध एवं अपराधियों के विरुद्ध चलाए गए अभियान में क्षेत्राधिकारी बिंदकी योगेंद्र सिंह मलिक के निकट पर्यवेक्षण एवं बिंदकी पुलिस व स्वाट टीम के संयुक्त प्रयास से घटना का सफल अनावरण करते हुए दो को गिरफ्तार किया गया। आपको बताते चलें 12 अप्रैल को थाना बिंदकी में चार अज्ञात लोगों के खिलाफ लिखित एफ आई आर पंजीकृत की गई थी। जिसकी विवेचना के दौरान प्रकाश में आए अभियुक्त मृतक के पुत्र शैलेंद्र और सैलू पुत्र स्वर्गीय संत कुमार अग्रवाल निवासी मीरख पुर कस्बा व थाना बिंदकी जनपद फतेहपुर में अपने साथी नीरज सिंह उर्फ लोहा सिंह पुत्र रमेश विश्वकर्मा निवासी पक्का तालाब नगर पालिका के पास मुगल रोड कस्बा व थाना बिंदकी के साथ मिलकर अपने पिता संत कुमार अग्रवाल की निर्मम हत्या कर दी। अन्य प्राप्त साक्ष्य संकलन में भी मृतक के पुत्र शैलेंद्र के द्वारा स्वयं ही उक्त घटना को कारित करना बताया गया है। क्योंकि मृतक संत कुमार अग्रवाल अपने पुत्र शैलेंद्र कुमार अग्रवाल को हिसाब में से पैसे नहीं देता था तथा दोनों लोग अलग-अलग रहते थे। पैसे के लेनदेन को लेकर अक्सर विवाद हुआ करता था। इस कारण नाराज होकर शैलेंद्र ने अपने पिता को रास्ते से हटाने का मन बना लिया तथा ₹16000 में अपने साथी नीरज सिंह उर्फ लोहा सिंह को हत्या की सुपारी दे दी। 11 अप्रैल को दोनों ने मिलकर संत कुमार अग्रवाल की हत्या कर दी तथा घटना को छिपाने के लिए लूट का रूप देने का प्रयास किया। जिन को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया गया जहां से उक्त दोनों अभियुक्तों को जेल भेजा गया है। जिनके पास से दो प्लास्टिक की डिब्बी में अलग-अलग खुना लुदा व सादा मिट्टी, एक प्लास्टिक की डिब्बी में रस्सी प्लास्टिक की, एक सफेद कपड़े में सर्वमुहर एक शर्ट, एक जोड़ी कपड़े बरामद हुए ।गिरफ्तार करने वाली टीम में मुख्य रूप से बिंदकी से प्रभारी निरीक्षक रविन्द्र श्रीवास्तव, वरिष्ठ उपनिरीक्षक राजेश कुमार सिंह, उप निरीक्षक सुमित देव पांडे, उप निरीक्षक विपिन कुमार यादव, हेड कांस्टेबल शाहनवाज हुसैन कांस्टेबल नितेश कुमार, पंकज, आशीष यादव, इंद्रवीर, महिला कांस्टेबल अरुणा तथा एसओजी टीम से प्रभारी निरीक्षक विनोद मिश्रा, कांस्टेबल पंकज सिंह, इंद्रजीत, अतुल त्रिपाठी, अमित दुबे रहे मौजूद।