मानव अस्तित्व के प्लास्टिक उपयोग पर लगें प्रतिबंध-प्राची श्रीवास्तव

 मानव अस्तित्व के प्लास्टिक उपयोग पर लगें प्रतिबंध-प्राची श्रीवास्तव



गिरिराज शुक्ला


बिदकी फतेहपुर।विश्व पृथ्वी दिवस के मौके पर देवमई विकास खंड के चिल्ड्रन पब्लिक स्कूल बकेवर में एक चित्र प्रतियोगिता का आयोजन किया गया।छात्र छात्राओं ने प्रतियोगिता में बढ़ रहे प्रदूषण से निजात पाने के लिए पौधारोपण करने,प्लास्टिक का प्रयोग न करने का पोस्टरों में चित्रों को उकेरा वहीं पेड़ पौधे लगाने, प्लास्टिक का उपयोग न करने का संकल्प लिया और विद्यालय परिसर में वृक्षारोपण किया।चिल्ड्रन पब्लिक स्कूल की निदेशिका प्राची श्रीवास्तव ने कहा कि हम अपनी थोड़ी सी सहूलियत को लेकर प्लास्टिक की थैलियों का अंधाधुंध प्रयोग कर रहे हैं।उन्होंने छात्र छात्राओं से कहा कि वे अपने अभिभावकों को प्लास्टिक का प्रयोग न करने खाली जमीन व घरों में पेड़ पौधे लगाने के लिए कहें और अपने आने  वाले जन्म दिवस पर पौधारोपण कर मनाएं।

विद्यालय की प्रधानाचार्या श्रीमती ऊषा दीक्षित ने कहा कि प्लास्टिक धरती के लिए एक अभिशाप है। इसलिए प्लास्टिक के विभिन्न रुपों पर प्रतिबंध लगाना पर्यावरण संरक्षण तथा मानव अस्तित्व के लिए अत्यंत आवश्यक है। उन्होंने बताया कि इसी लिए विद्यालय में छात्र छात्राओं ने आज "स्टूडेंट्स अगेंस्ट प्लास्टिक" विषय पर अपने चित्र बनाकर पर्यावरण संरक्षण के लिए प्लास्टिक का उपयोग न करने पेड पौधे लगाकर धरती को हरा-भरा बनाने का संदेश दिया है।इस मौके पर छात्र छात्राओं ने अपना संकल्प दोहराते हुए कहा कि वे घरों में जाकर अपने पापा मम्मी को पौधारोपण करने, प्लास्टिक की जगह कपड़े के थैलों का प्रयोग करने के लिए प्रेरित करेंगे। जिससे पर्यावरण को प्रदूषणमुक्त करके धरती को एक बार हरा-भरा किया जा सके।

इस मौके पर विद्यालय की निर्देशिका प्राची श्रीवास्तव, प्रधानाचार्या  श्रीमती ऊषा दीक्षित के साथ कोआर्डिनेटर श्रीमती राधा रानी शुक्ला,रुही खान,सुचि गुप्ता,मयंक सिंह,फारुख अंसारी, दिव्या पाल,शैलू गौड़,आयशा,संदीप कुमार विश्वकर्मा,दीपक कुशवाहा, अंकिता पाण्डेय, संगीता दुबे, बलविंदर कौर,सरिता पाल,लक्ष्मी शुक्ला,राम शरन,अभिशेष कनौजिया,राज शर्मा व मो.आदिल आदि मौजूद रहे।